Move to Jagran APP

Karnataka Assembly Election: JDS को लगा बड़ा झटका, विधायक श्रीनिवास हुए कांग्रेस में शामिल

गुब्बी निर्वाचन क्षेत्र (Gubbi constituency) के जेडीएस विधायक श्रीनिवास (JDS MLA Srinivas) बेंगलुरु में कर्नाटक कांग्रेस प्रमुख डीके शिवकुमार (Karnataka Congress chief DK Shivakumar) और कांग्रेस नेता सिद्धारमैया (Congress leader Siddaramaiah) की उपस्थिति में कांग्रेस पार्टी में शामिल हुए।

By Versha SinghEdited By: Versha SinghPublished: Thu, 30 Mar 2023 01:00 PM (IST)Updated: Thu, 30 Mar 2023 02:34 PM (IST)
JDS विधायक श्रीनिवास हुए कांग्रेस में शामिल

नई दिल्ली, एजेंसी। गुब्बी निर्वाचन क्षेत्र (Gubbi constituency) के जेडीएस विधायक श्रीनिवास (JDS MLA Srinivas) बेंगलुरु में कर्नाटक कांग्रेस प्रमुख डीके शिवकुमार (Karnataka Congress chief DK Shivakumar) और कांग्रेस नेता सिद्धारमैया (Congress leader Siddaramaiah) की उपस्थिति में कांग्रेस पार्टी में शामिल हुए। 

— ANI (@ANI) March 30, 2023

27 मार्च को दिया था इस्तीफा

जानकारी के अनुसार जद (एस) के विधायक एस आर श्रीनिवास (गुब्बी श्रीनिवास) ने बीते सोमवार को कर्नाटक विधानसभा अध्यक्ष को एक विधायक के रूप में अपना इस्तीफा सौंप दिया था। इस दौरान उन्होंने कहा था कि वह जल्द ही कांग्रेस में शामिल होंगे। श्रीनिवास पर जून 2022 के राज्यसभा चुनाव में क्रॉस-वोटिंग का आरोप लगाया गया था। जद (एस) का दावा है कि इससे उसके उम्मीदवार डी कुपेंद्र रेड्डी की हार हुई थी।

श्रीनिवास को किया था पार्टी ने बाहर

पिछले साल JDS ने श्रीनिवास को निष्कासित कर दिया था और उन्हें कोलार के एक अन्य विधायक के श्रीनिवास गौड़ा के साथ दलबदल विरोधी कानून के तहत अयोग्य घोषित करने के लिए एक याचिका भी दायर की थी।

मैं कांग्रेस में शामिल होने की बना रहा योजना- श्रीनिवास

श्रीनिवास ने कहा कि मेरा इस्तीफा (अध्यक्ष द्वारा) स्वीकार किए जाने के बाद मैं कांग्रेस में आधिकारिक रूप से शामिल होने के बारे में कांग्रेस नेताओं से चर्चा करूंगा। मैं 31 मार्च को आधिकारिक तौर पर कांग्रेस में शामिल होने की योजना बना रहा हूं। तालुक नेताओं के साथ चर्चा करने के बाद  मैं फैसला करूंगा।

भारी मन से दे रहा हूं इस्तीफा- श्रीनिवास

श्रीनिवास ने कहा कि मैंने लगभग 20 सालों तक जद (एस) में (एच डी) देवेगौड़ा और (एच डी) कुमारस्वामी के नेतृत्व में काम किया, आज मैं उस पार्टी के विधायक के रूप में भारी मन और बहुत दर्द के साथ इस्तीफा दे रहा हूं।

उन्होंने आगे कहा कि देवेगौड़ा ने मुझे एक बेटे की तरह माना और मुझे काम करने के लिए प्रोत्साहित किया, मैं उनका तहे दिल से शुक्रिया अदा करता हूं। कुमारस्वामी भी मुझे अपने छोटे भाई की तरह मानते थे, लेकिन पता नहीं किस वजह से उन्होंने मुझे पार्टी से निकाल दिया।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.