जयपुर, एजेंसी। भारत जोड़ो यात्रा के राजस्थान आने से पहले कांग्रेस पार्टी के अंदर हलचल तेज हो गई है। आज यात्रा के लिए लगे पोस्टर से ही कांग्रेस के अंदर पोस्टर वार शुरू हो गया। सड़कों से सचिन पायलट के पोस्टर ही बदल दिए गए जिसके बाद विवाद छिड़ गया। हालांकि, इस मुद्दे पर सचिन पायलट का बयान भी सामने आया। 

सचिन पायलट बोले- सभी एकमत

सीएम अशोक गहलोत के साथ विवाद के प्रभाव पर सचिन पायलट ने कहा कि पार्टी में सब लोग एकजुट हैं और  राजस्थान में भारत जोड़ो यात्रा को सफल बनाने पर पार्टी में कोई आशंका नहीं है और सभी एकमत हैं। उन्होंने कहा कि यात्रा को हम ऐतिहासिक बनाने पर काम कर रहे हैं।

पायलट के हटा दिए गए पोस्टर

कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल ने हाल ही में 29 नवंबर को जयपुर में एकता दिखाने के लिए राज्य के दोनों नेताओं के साथ बैठक की और गहलोत और पायलट से हाथ मिलाया। इसके बाद दावा किया गया कि पार्टी में सब कुछ ठीक है, लेकिन 3 दिसंबर को एकता के प्रदर्शन के कुछ ही देर बाद दोनों गुटों के समर्थकों ने पोस्टर युद्ध शुरू कर दिया। पायलट के समर्थक भारत जोड़ो यात्रा की पायलट की तस्वीर वाले पहले से लगे पोस्टरों के ऊपर पीसीसी समर्थकों द्वारा इस्तेमाल किए गए पोस्टरों का विरोध करते देखे गए।

पोस्टर को लेकर छिड़ा विवाद

राजस्थान में भारत जोड़ो यात्रा के आगमन से कुछ दिन पहले दोनों गुटों के समर्थकों ने पोस्टर लगाना शुरू कर दिया था। पायलट समर्थकों ने जिले के प्रमुख स्थानों पर होर्डिंग्स के लिए भुगतान किया था, जहां से यात्रा को पार करना है। मामले में नया मोड़ तब आया जब पीसीसी समर्थकों की ओर से राहुल की यात्रा के बैनर और होर्डिंग लगाने के लिए ठेकेदार की टीम शनिवार को झालावाड़ पहुंची। उन्होंने बिना पूर्व अनुमति के पायलट कार्यकर्ताओं द्वारा बुक किए गए प्रमुख स्थानों पर पीसीसी समर्थकों द्वारा जारी राहुल यात्रा के बैनर लगाने शुरू कर दिए। पायलट गुट के समर्थक मौके पर पहुंचे और महंगा रेट देकर साइट बुक करने की बात कहकर विरोध जताया।

पुलिस ने सुलझाया मामला

विवाद बढ़ता देख मौके पर पहुंची पुलिस ने भी आपसी समझाइश के बाद मामले को शांत कराया और पायलट गुट के समर्थकों के विरोध को देखते हुए पीसीसी समर्थकों को बैनर वापस लेने पड़े। मजदूरों के आपस में भिड़ने की आशंका के मद्देनजर यह पूरी घटना पुलिस की मौजूदगी में हुई। इस मौके पर झालावाड़ शहर कोतवाली प्रभारी चंद्र ज्योति शर्मा भी मौजूद रहे।

3500 किलोमीटर की दूरी तय करेगी यात्रा

कन्याकुमारी से 7 सितंबर को शुरू हुई भारत जोड़ो यात्रा 23 नवंबर को मध्य प्रदेश में प्रवेश कर 12 दिनों में राज्य के सात जिलों को कवर करेगी। अब तक तमिलनाडु, केरल, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों को कवर किया है और आज राजस्थान में प्रवेश करने वाली है। कांग्रेस सूत्रों के मुताबिक यात्रा 26 जनवरी 2023 को कश्मीर में करीब 3500 किलोमीटर की दूरी तय कर संपन्न होगी।

यह भी पढ़ें- जागरण प्राइम इन्वेस्टिगेशन: ट्यूबवेल के पानी में मिला लेड, यह हृदय, किडनी रोग और हाइपरटेंशन का कारण

Fact Check: करीना कपूर को लेकर फर्जी दावा किया जा शेयर, वायरल तस्वीरें पुरानी

Edited By: Mahen Khanna

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट