नई दिल्ली, एजेंसी। पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान को फ्रैंकफर्ट से दिल्ली जाने वाली लुफ्थांसा फ्लाइट से उतारे जाने के मामले को लेकर सियासत हो रही है। इसे लेकर विपक्षी दल पंजाब की भगवंत मान सरकार पर सवाल उठा रहा है। इस बीच, पंजाब के सीएम भगवंत मान क लुफ्थांसा विमान से उतारे जाने की जांच की मांग पर केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने प्रतिक्रिया दी है।

जांच की मांग पर बोले ज्योतिरादित्य सिंधिया

संवाददाताओं से बात करते हुए केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि यह घटना जर्मनी में घटी थी, जिसके लिए हमें पहले तथ्यों की जांच करनी होगी। मुझे भेजे गए अनुरोध के आधार पर मैं निश्चित रूप से इस पर गौर करूंगा।

क्या है मामला

पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान को लेकर दावा किया गया था कि फ्रैंकफर्ट से दिल्ली जाने वाली लुफ्थांसा की फ्लाइट से उन्हें उतार दिया गया था। इस दावे में कहा गया था कि वह नशे में होने के कारण चलने में असमर्थ थे। मीडिया की खबरों के मुताबिक, भगवंत मान 11 से 18 सितंबर तक की जर्मनी यात्रा पर थे। वापसी के दौरान कथित तौर पर वह नशे की हालत में थे, इसलिए फ्रैंकफर्ट में उन्हें विमान से उतार दिया गया। इस घटना के कारण विमान को प्रस्थान करने में देरी हुई थी।

यह भी पढ़ें- चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के बाद IIT बाम्बे में MMS कांड! वाशरूम की खिड़की से बनाया छात्रा का आपत्तिजनक वीडियो

आम आदमी पार्टी ने आरोपों को नकारा

हालांकि, आम आदमी पार्टी (AAP) ने इन अफवाहों का खंडन करते हुए कहा था कि सीएम भगवंत मान को फ्रैंकफर्ट हवाईअड्डे पर नहीं उतारा गया था। पार्टी ने इसे राजनीतिक साजिश करार दिया था। वहीं, मुख्यमंत्री कार्यालय के अधिकारियों ने दावा किया था कि अचानक स्वास्थ्य संबंधी चिंताओं के कारण मुख्यमंत्री विमान में नहीं चढ़ सके थे।

यह भी पढ़ें- Rajasthan: लंपी वायरस से हजारों गायों की मौत, जयपुर में भाजपा का हल्ला बोल; बैरिकेड पर चढ़े कार्यकर्ता

Edited By: Mohd Faisal