नई दिल्ली, एएनआइ। एआइएमआइएम(AIMIM) के अध्यक्ष और सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने दिल्ली स्थित उनके आवास पर तोड़फोड़ की जांच की मांग की है। ओवैसी ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला को पत्र लिखकर नई दिल्ली स्थित अपने आधिकारिक आवास पर तोड़फोड़ के मामले में हस्तक्षेप करने और बेहतर सुरक्षा सुनिश्चित करने की मांग की, इस मामले को व्यापक जांच के लिए विशेषाधिकार समिति के पास भेजने की मांग भी गई है।

21 सितंबर(मंगलवार) को आल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुस्लिमीन (एआइएमआइएम) के राष्ट्रीय अध्यक्ष व हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी के दिल्ली स्थित सरकारी आवास पर कुछ लोगों ने तोड़फोड़ की थी। बाद में हिंदू सेना ने इस घटना की जिम्मेदारी लेते हुए एक बयान जारी कर कहा था कि ओवैसी के हिंदू विरोधी बयानों से नाराज होकर हिंदू सेना के कार्यकर्ताओं ने ओवैसी के घर पर विरोध प्रदर्शन किया था और उसी दौरान तोड़फोड़ हुई। पुलिस ने इस मामले में कुछ लोगों को हिरासत में लिया है और उनसे पूछताछ की जा रही है।

औवैसी ने बोला हमला

असदुद्दीन ओवैसी ने अपने घर पर हुई तोड़फोड़ को लेकर कहा है कि मेरे घर पर हमला हुआ कोई बात नहीं। जितना दंगा करना चाहो कर लो लेकिन मेरे कदम पीछे हटने वाले नहीं हैं। एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने अपने दिल्ली स्थित घर पर हुई तोड़फोड़ को लेकर भाजपा को जिम्मेदार ठहराया है। अपनी एक रैली को संबोधित करने यूपी पहुंचे असदुद्दीन ओवैसी ने कहा है कि मेरी मौत मुझे रोक सकती है, तुम्हारी हरकतें नहीं रोक सकती हैं। इसके साथ ही उन्होंने कई और बातें तोड़फोड़ करने वालों को लेकर कहीं है।

एक रैली को संबोधित करते हुए असदुद्दीन ओवैसी ने संभल में कहा कि जब संभल में 2 बच्चों की मौत हो जाती है तो मेरे घर की क्या अहमियत और कीमत है? उन्होंने कहा कि अरे तुम्हारा घर आबाद है तो मेरा घर भी आबाद रहेगा। तुम्हारी औलाद अच्छी रहेगी तो मेरी औलाद भी अच्छी रहेगी। तुम को इंसाफ मिलेगा तो मुझे भी इंसाफ मिलेगा।

Edited By: Shashank Pandey