नई दिल्ली, पीटीआइ। लोकसभा में कांग्रेस पार्टी के नेता अधीर रंजन चौधरी ने सोमवार को राष्ट्रपति के अभिभाषण पर चर्चा के दौरान पीएम मोदी को लेकर दिए गए विवादित बयान पर मांफी मांग ली है। अधीर रंजन चौधरी ने लोकसभा में अपनी टिप्पणी पर कहा कि यह गलतफहमी है, मैंने 'नाली' नहीं कहा, अगर पीएम इससे नाराज हैं तो मुझे खेद है। मेरा उन्हें चोट पहुंचाने का कोई इरादा नहीं था। अगर पीएम इससे आहत हैं तो मैं उनसे व्यक्तिगत रूप से माफी मांगूंगा। मेरा हिंदी अच्छी नहीं है, 'नाली' से मेरा मतलब चैनल से है। 

उन्होंने इस बयान पर सफाई देते हुए यह भी कहा कि भाजपा के एक सांसद ने पीएम मोदी की तुलना स्वामी विवेकानंद से उनके नामों में समानता के कारण की और उन्हें समान बताया। यह बंगाल की भावनाओं को आहत करता है। इसलिए मैंने कहा 'तुम मुझे उकसा रहे हो, अगर आप ऐसा बोलेंगे तो मैं कहूंगा कि आप गंगा की तुलना नाली से कर रहे हो।'

कहा- कहां गंगा मां और कहां गंदी नाली
इससे पहले उन्होंने कहा कि 'कहां गंगा मां और कहां गंदी नाली, दोनों की तुलना ठीक नहीं है। दरअसल भाजपा ने लोकसभा में पहले ये आरोप लगाया था कि कांग्रेस ने तो एक समय में 'इंदिरा इज इंडिया' जैसा मौहाल बना दिया था। इसका जवाब देते हुए चौधरी मर्यादा ही लांघ दी और पीएम मोदी के लिए 'गंदी नाली' जैसे गंदे शब्द का इस्तेमाल किया। उन्होंने इंदिरा गांधी को मां गंगा की तरह और पीएम मोदी को गंदी नाली की तरह बताया। साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि 'हमारा और मुंह मत खुलवाओ।' हालांकि, उनका यह बयान रिकॉर्ड में नहीं गया। 

प्रधानमंत्री एक बहुत बड़े सेल्समैन हैं
धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान उन्होंने भाजपा सरकार और पीएम मोदी पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी एक बड़े सेल्समैन हैं। इस वजह से भाजपा वापस सरकार बनाने में कामयाब रही और कांग्रेस अपने प्रोडक्ट को बेचने में नाकाम रही। 

कांग्रेस अपने प्रोडक्ट को बेचने में असमर्थ रही
उन्होंने कहा 'हमारे प्रधानमंत्री एक बहुत बड़े सेल्समैन हैं। हम (कांग्रेस) अपने प्रोडक्ट को बेचने में असमर्थ रहे हैं, इसीलिए हम (लोकसभा चुनाव) हार गए।' केंद्रीय मंत्री प्रताप सारंगी ने इस चर्चा की शुरुआत की थी। उन्होंने सारंगी की ओर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की स्वामी विवेकानंद से तुलना करने पर आपत्ति जताया। चौधरी ने उनपर कटाक्ष करते हुए कहा कि सारंगी ने मोदी की प्रशंसा में अपनी हद पार कर दी। 

विंग कमांडर अभिनंदन की मूंछ को 'राष्ट्रीय मूंछ' घोषित करने की मांग
उन्होंने कहा कि विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान को सम्मानित किया जाना चाहिए और उनकी मूंछ को 'राष्ट्रीय मूंछ' घोषित किया जाना चाहिए। गौरतलब है कि पुलवामा हमले के बाद 26 फरवरी को तड़के बालाकोट में हवाई हमलों से जैश के आतंकी शिविरों को नष्ट के बाद पाकिस्तान ने अगले ही दिनअपने आधुनिक एफ-16 लड़ाकू विमान को भारत में हमले के लिए भेजा था। इस दौरान वायु सेना के विंग कमांडर अभिनंदन ने पाक के एफ-16 लड़ाकू विमान को अपने मिग-21 से मार गिराया था। हालांकि, उनका विमान भी दुर्घटना का शिकार हो गया और वो पाकिस्तान के क्षेत्र में गिरे, जहां उन्हें बंदी बना लिया गया था, लेकिन भारत की आक्रामकता के चलते पाकिस्तान को अभिनंदन को सकुशल वापस करना पड़ा था।

देश सूखे की चपेट में सरकार चिंतित नहीं
चौधरी ने कहा कि उनकी पार्टी राष्ट्रपति की आलोचना नहीं करती है, लेकिन हम विभिन्न मुद्दों पर विफलता के लिए सरकार को लताड़ना चाहते हैं। मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए चौधरी ने कहा कि देश सूखे की चपेट में है, लेकिन सरकार चिंतित नहीं है। उन्होंने कहा कि भाजपा सांसदों ने लोगों की परेशानी कम करने के लिए कोई कदम नहीं उठाए हैं, क्योंकि उन्हें लगता है कि मोदी सब कुछ करेंगे। उन्हें लगता है कि मोदी की प्रशंसा करना पर्याप्त है।

भाजपा सरकार ने कांग्रेस सरकार की योजनाओं का नाम बदल दिया
चौधरी ने एनडीए के सदस्यों को यह भी याद दिलाया कि कई परियोजनाओं की शुरुआत कांग्रेस की सरकारों द्वारा की गई थी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के शासन में कई बड़े सार्वजनिक उपक्रम (PSU) भी स्थापित किए गए थे। चौधरी ने आरोप लगाया कि भाजपा सरकार ने गरीबों को लाभ पहुंचाने के लिए कांग्रेस सरकार द्वारा शुरू की गई कई योजनाओं का नाम बदल दिया है।

सोनिया गांधी और राहुल गांधी जेल क्यों नहीं गए
2 जी स्पेक्ट्रम घोटाला को लेकर भाजपा पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि अगर किसी ने कोई गलत काम किया है तो यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी जेल में क्यों नहीं हैं। वे अभी भी संसद में क्यों हैं।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Tanisk