सोफिया, एएनआइ। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और बुल्गारिया के राष्ट्रपति रुमेन रादेव ने भारत और बुल्गारिया के बीच एमओयू पर हस्ताक्षर किए। रामनाथ कोविंद ने भारत की विकास यात्रा की कहानी से बुल्गारिया में भारतीय समुदाय को अवगत कराया और कहा कि हिंदुस्‍तान की अर्थव्यवस्था लगातार संतुलित प्रगति कर रही है। उन्‍होंने बुल्गारिया में 'दोनों देशों के बीच पुल' के रूप में भारतीय समुदाय की भी प्रशंसा की।

बुल्गारिया की राजधानी सोफिया में प्रवासी भारतीयों को संबोधित करते हुए राष्‍ट्रपति ने कहा, 'हमने समावेशी विकास और देश में सुशासन के लिए दृष्टिकोणों को एक नया उद्देश्य और स्पष्टता देने के लिए कई प्रकार के परिवर्तनीय नीति उपायों का कार्य किया है। हमने अपनी अर्थव्यवस्था को एक नई ऊर्जा प्रदान की है। भारत 8.2% की वर्तमान वृद्धि दर के साथ दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती प्रमुख अर्थव्यवस्था है। हम 2025 तक 5 ट्रिलियन अमेरिकी डालर और दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा उपभोक्ता बाजार बनने की दिशा में निरंतर प्रगति कर रहे हैं।'

राष्ट्रपति ने बुल्गारिया में 'दोनों देशों के बीच पुल' के रूप में भारतीय समुदाय की भी प्रशंसा की। उन्‍होंने कहा, 'बुल्गारिया में भारतीय प्रवासी दोनों देशों के बीच एक पुल का काम करते हैं। एक मजबूत धागा है जो हम सभी को एक साथ बांधता है। यह हमारी सांस्कृतिक और पारंपरिक विरासत है। मुझे खुशी है कि आपने इस देश में अपनी परंपराओं और त्यौहारों को जीवित रखा है। लेकिन दिल को खुश करने वाली बात यह है कि हमारे बल्गेरियाई मित्र हमारी संस्कृति और विचारों की सराहना करते हैं।'

उन्होंने भारत के आर्थिक विकास के बारे में भी विस्तृत जानकारी दी और कहा कि विश्व बैंक और आइएमएफ के नवीनतम अनुमानों के मुताबिक, भारतीय अर्थव्यवस्था 2019 में 7.8 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज करने के अपने उच्च प्रक्षेपवक्र पर जारी रहेगी। विश्व आर्थिक मंच में भारत 2017 में सबसे भरोसेमंद सरकारों की सूची में तीसरा स्थान था। हमने पिछले कुछ सालों में विश्व बैंक के बिजनेस इंडेक्स में आसानी से 42वें स्थानों पर पहुंच गए हैं।

Posted By: Tilak Raj