Move to Jagran APP

Oil Purchase from Russia: रूस से तेल की खरीद के फैसले की आलोचना करने वालों को विदेश मंत्री एस जयशंकर का करारा जवाब, जानें क्‍या कहा

विदेश मंत्री एस जयशंकर (External Affairs Minister S Jaishankar) ने यूक्रेन युद्ध (Ukraine War) के बीच रूस से तेल की खरीद करने के फैसले का बचाव करते हुए कहा कि यह समझना महत्वपूर्ण है कि यूक्रेन से जारी संघर्ष विकासशील देशों को कैसे प्रभावित कर रहा है।

By Krishna Bihari SinghEdited By: Published: Fri, 03 Jun 2022 04:46 PM (IST)Updated: Fri, 03 Jun 2022 05:24 PM (IST)
विदेश मंत्री एस जयशंकर ने रूस से तेल की खरीद करने के फैसले का बचाव किया है।

ब्राटिस्‍लावा, एएनआइ। विदेश मंत्री एस जयशंकर (External Affairs Minister S Jaishankar) ने यूक्रेन युद्ध (Ukraine War) के बीच रूस से तेल की खरीद करने के फैसले का बचाव करते हुए कहा कि यह समझना महत्वपूर्ण है कि यूक्रेन से जारी संघर्ष विकासशील देशों को कैसे प्रभावित कर रहा है। उन्होंने (External Affairs Minister S Jaishankar) सवाल किया कि केवल भारत से ही सवाल क्यों किया जा रहा है जबकि यूरोपीय देशों ने रूस से गैस का आयात करना जारी रखा है।

loksabha election banner

इस सवाल पर कि क्या रूस से भारत का तेल आयात यूक्रेन युद्ध के लिए फंडिंग नहीं कर रहा है... जयशंकर ने कहा कि देखिए, मैं बहस नहीं करना चाहता। अगर भारत रूस से तेल खरीद कर युद्ध के लिए फंडिंग कर रहा है तो क्‍या गैस के खरीदार देश युद्ध की फंडिंग नहीं कर रहे हैं? क्‍या रूस की गैस यूरोप में नहीं आ रही है? जयशंकर ने यह बयान स्लोवाकिया में आयोजित GLOBSEC 2022 ब्रातिस्लावा फोरम में 'टेकिंग फ्रेंडशिप टू द नेक्स्ट लेवल: अलायज इन द इंडो-पैसिफिक रीजन' विषय पर की।

भारत की ओर से रूसी तेल की खरीद पर जयशंकर ने कहा कि यूरोपीय संघ की ओर से लगाए गए प्रतिबंध कुछ यूरोपीय देशों के हितों को ध्यान में रखते हुए लगाए गए हैं। यूरोप तेल खरीद रहा है, यूरोप गैस खरीद रहा है... अगर कोई यूरोपीय मुल्‍क यह कहता है कि इसे एक तरह से प्रबंधित करना है जिससे अर्थव्यवस्था पर प्रभाव नहीं पड़े तो यह स्वतंत्रता अन्य मुल्‍कों के लिए भी दी जानी चाहिए।  

जयशंकर (External Affairs Minister S Jaishankar) ने यह भी कहा कि अगर पश्चिमी मुल्‍क, यूरोप और अमेरिका के देश इतने चिंतित हैं तो वे ईरानी तेल को बाजार में क्यों नहीं आने देते हैं। वे वेनेजुएला के तेल को बाजार में आने की अनुमति क्यों नहीं देते हैं। भारत ने कोरोना महामारी को बेहद समझदारी से संभाला जिससे देश काफी हद तक उबर चुका है। प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में भारत सरकार ने न केवल महामारी के दौरान अर्थव्यवस्था का बेहतर प्रबंधन किया वरन कई क्षेत्रों में छलांग भी लगाई।


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.