टोक्यो, आइएएनएस। भारत के योगेश काथुनिया ने यहां जारी टोक्यो पैरालिंपिक में शानदार प्रदर्शन करते हुए पुरुष डिस्कस थ्रो एफ56 वर्ग में रजत पदक जीता। योगेश ने फाइनल में 44.38 मीटर का थ्रो कर दूसरा स्थान हासिल किया। ब्राजील के सांतोस डोए क्लाउडिने बतिस्ता ने 45.59 मीटर का थ्रो कर नया पैरालिंपिक रिकार्ड बनाया और स्वर्ण पदक जीता। भारत के लिए सोमवार का दिन काफी खास रहने वाला है, कुछ और पदकों की उम्मीद जारी है।

क्यूबा के लियोनार्ड एलांडाना डियाज ने 43.36 मीटर के थ्रो के साथ कांस्य पदक जीता। 24 वर्षीय योगेश एक समय स्वर्ण पदक की दौड़ में थे लेकिन बतिस्ता ने अपने पहले थ्रो में 44.57 का थ्रो किया। बतिस्ता ने अपने छठे प्रयास में पैरालम्पिक खेल का रिकॉर्ड सेट किया। योगेश के रजत पदक जीतने के साथ ही भारत ने टोक्यो पैरालिंपि में कुल पांचवां पदक हासिल कर लिया है। भारत ने अब तक इस पैरालम्पिक में एक स्वर्ण, तीन रजत और एक कांस्य पदक जीता है।

रविवार को जहां भारत ने राष्ट्रीय खेल दिवस के मौके पर दो रजत और एक कांस्य पदक जीता था, जबकि सोमवार को भारतीय खिलाड़ियों ने गोल्ड, सिल्वर और ब्रान्ज मेडल भी जीता है। इस तरह रविवार को जहां भारतीय खिलाड़ियों को चांदी हुई तो सोमवार को सोना भी भारत की झोली में आया जब 10 मीटर एयर राइफल्स में अवानी लेखरा ने गोल्ड मेडल अपने नाम किया। 

Edited By: Vikash Gaur