संवाद सूत्र, बंडामुंडा : दक्षिण- पूर्व रेलवे के चक्रधरपुर रेल मंडल के पुराना कुआरमुंडा रेलवे स्टेशन के पास भारी बारिश के कारण रेल पटरी के नीचे से मिट्टी बह गया। जिसके कारण उक्त पटरी के नीचे कुआं आकार में सात फीट का गड्ढा बन गया। इस मार्ग में पटरी मरम्मत का कार्य करने वाले रेल विभाग के कर्मियों की सूझबूझ और पीडब्ल्यूआइ की तत्परता से इस मार्ग में बड़ा रेल हादसा टल गया।

चक्रधरपुर रेल मंडल के पुराना कुआरमुंडा रेलवे स्टेशन के पास पोल संख्या- 431/10 शनिवार को की-मैन पटरी मरम्मत कार्य करने के दौरान उसकी नजर पटरी के नीचे बड़ा गड्ढा देखा। उसने तुरंत इसकी सूचना विभागीय अधिकारी को दी। सूचना पाते ही पीडब्ल्यूआइ वन आरके श्रीवास्तव कर्मचारियों के साथ उक्त स्थान पहुंचे और आनन - फानन में गड्ढे को भर दिया गया। साथ ही उस मार्ग को काम खत्म होने तक अवरोध कर दिया गया था। जिसके पश्चात सोमवार से पटरी के नीचे से बने गड्ढे को कंक्रीट से सही तरीके से भरने कार्य शुरू किया गया। मंगलवार देर शाम को उसे भरने के साथ पटरी को दुरुस्त कर दिया गया। अब इस मार्ग पर बुधवार से ट्रेनों की आवागमन शुरू हो गई। पीडब्ल्यूआइ अधिकारी के अनुसार कीमैन की सुझबुझ तथा सूचना पाने के साथ समय रहते तत्परता के साथ निरीक्षण कर गड्ढा भरने का कार्य किया गया। जिससे इस मार्ग में ट्रेन हादसा होने से बच गया। उन्होंने कहा कि शनिवार को भारी बारिश होने के कारण पटरी के नीचे से मिट्टी बहने के कारण यहां पटरी के नीचे गड्ढा बन गया था।

Posted By: Jagran