संबलपुर, जेएनएन। पहली जनवरी से कहीं लापता आरती देवी की तलाश के लिए गुरुवार को पुलिस ने उसके स्थानीय साक्षीपाड़ा के बाहालपाडा स्थित ससुराल घर में दो स्थानों में खुदाई की लेकिन कुछ हाथ नहीं लगा। पुलिस को संदेह था कि संभवत: ससुराल वालों ने उसकी हत्या कर शव को अपने ही घर में दफना दिया होगा। पुलिस की इस थ्योरी के पीछे बड़ा कारण यह भी था कि बुधवार की रात जब पुलिस आरती की ससुराल पहुंची तब बंद घर के अंदर एक खाट के नीचे की जमीन ताजा मिट्टी से समतल दिखी। रात हो जाने से उस स्थान की खुदाई नहीं की गई।

गुरुवार को मजिस्ट्रेट सुशांत कुमार साहू, पुलिस अधीक्षक डॉ. कंवर विशाल सिंह, सदर एसडीपीओ तपन महांती, धनुपाली थानेदार कमल कुमार पंडा, महिला थाना की प्रभारी अनीता प्रधान और साइंटिफिक टीम की उपस्थिति में आरती की ससुराल के कच्चे घर के दो स्थानों की खुदाई की गई लेकिन वहां से कुछ नहीं मिला। ऐसे में अब पुलिस लापता आरती समेत उसके फरार ससुराल वालों की तलाश कर रही है।

इधर, आरती के पिता सत्येंद्र सिंह के साथ राउरकेला से आए उसके मामा रामप्रकाश सिंह ने आरोप लगाते हुए मीडिया को बताया कि विवाह के बाद से आरती को अधिक दहेज लाने के लिए प्रताड़ित किया जाता था। उसने कई बार इस बारे में अपने माता-पिता को फोन पर बताया भी था। आरती के पिता सत्येंद्र सिंह 

ने बताया है कि 31 दिसंबर की रात आरती के साथ उनकी आखिरी बार बात हुई थी और इसके बाद से उससे संपर्क नहीं हुआ। दो दिन बाद उसके दामाद कुणाल सिंह उर्फ यादव ने पत्नी आरती के कहीं लापता हो जाने के बारे में सूचित किया था। इसी के बाद से किसी अनहोनी की आशंका की जा रही थी।

दाउद का गुर्गा लकड़ावाला मोबाइल पर मैसेज भेज मांगता था फिरौती, पढ़ें- जांच में सामने आए कुछ संदेश

पुलिस अधीक्षक डॉ. कंवर विशाल सिंह ने कहा कि आरती के लापता हो जाने की रिपोर्ट के बाद उसके पति कुणाल सिंह उर्फ यादव और ससुराल के अन्य सदस्यों के गायब हो जाने से उपजे संदेह के बाद गुरुवार को पति कुणाल के घर की खुदाई की गई लेकिन वहां से कुछ नहीं मिला। पुलिस अब तक इसे लापता होने का मामला दर्ज कर जांच कर रही है। यह परिणाम मिलने तक लगातार जारी रहेगी। फिलहाल आरती और उसके ससुराल वालों में से किसी के मिल जाने के बाद ही इस मामले का पर्दाफाश संभव हो सकेगा।

 कलयुगी बेटे की करतूत, मां की हत्या के बाद शव के टुकड़े कर बेडशीट में बांधे

 

Posted By: Babita kashyap

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस