संबलपुर, संवाद सूत्र। Odisha: ओडिशा के संबलपुर में बुर्ला स्थित वीर सुरेंद्र साय प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के वशिष्ठ हॉस्टल में बीते शनिवार की रात जूनियर छात्रों के साथ हुए रैगिंग की जांच रिपोर्ट मिलने के बाद हॉस्टल के दो सीनियर छात्रों को हॉस्टल से निकाल दिया गया है। यह दोनों चतुर्थ वर्ष के छात्र हैं। रैगिंग के नाम पर जूनियर छात्रों पर उनके द्वारा किए गए। विश्वविद्यालय प्रशासन ने इन छात्रों को परीक्षा देने से भी वंचित रखने का निर्णय लिया है। इनमें से एक शनिवार के दिन हॉस्टल छोड़कर अपने घर चला गया, जबकि दूसरा छात्र रविवार को अपने अभिभावकों के साथ घर गया। वहीं, संबलपुर होम्योपैथी कॉलेज में चार सीनियर छात्राओं से रैगिंग का मामला सामने आया है।

बुर्ला में रैगिंग की घटना शनिवार देर रात प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के वशिष्ठ हॉस्टल में हुई थी। नशे की हालत में हॉस्टल लौटे चतुर्थ वर्ष के दो सीनियर छात्रों ने जूनियर छात्रों के कमरे में घुसकर खूब उत्पात किया। जूनियर छात्रों को नींद से जगाकर उन्हें कतार में खड़ा किया और फिर उन्हें घुटनों में सिर छिपाकर बैठने को कहा। करीब दो घंटे तक जूनियर छात्र इसी हालत में रखा गया और उनसे उलजुलूल सवाल पूछे गए। जवाब नहीं देने पर कुछ की पिटाई की गई तो किसी के शरीर को जलती सिगरेट से दागा गया। एक पीड़ित छात्र ने इस बारे में दिल्ली स्थित नेशनल एंटी रैगिंग सेल से शिकायत कर दी। इसकी के बाद रैगिंग का यह मामला सामने आया। एंटी रैगिंग सेल के निर्देश पर विश्वविद्यालय प्रशासन ने जांच कमेटी का गठन किया। कमेटी की जांच रिपोर्ट मिलने के बाद विश्वविद्यालय प्रशासन ने रैगिंग जैसा अपराध कर विश्वविद्यालय के मान सम्मान पर आंच लाने और इसे बदनाम करने की कोशिश करने वाले चतुर्थ वर्ष के दो सीनियर छात्रों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का निर्णय लिया। इसी निर्णय के तहत दोनों को हॉस्टल से बहिष्कार किया गया और इस साल उन्हें परीक्षा देने से भी वंचित रखने का निर्णय लिया। विश्वविद्यालय प्रशासन ने रैगिंग को रोकने की खातिर हॉस्टलों के वार्डन और सहायक वार्डन से भी सतर्क रहने को कहा है।

संबलपुर होम्योपैथी कॉलेज में चार सीनियर छात्राओं से रैगिंग 

माझीपाली में ओडिशा कॉलेज ऑफ होमियोपैथी एंड रिसर्च के नए भवन में चार सीनियर छात्राओं के साथ रैगिंग का मामला तूल पकड़ने लगा है। इसकी शिकायत दिल्ली स्थित नेशनल एंटी रैगिंग सेल तक पहुंच चुकी है। इस मामले को गंभीरता से लेते हुए एंटी रैगिंग सेल ने कॉलेज प्रशासन को घटना की जांच का निर्देश दिया है। इस निर्देश के बाद कॉलेज की चार सदस्यीय जांच टीम घटना की जांच कर रही है। उधर, राज्य के स्वास्थ्यमंत्री नवकिशोर दास ने भी इस घटना को गंभीरता से लेने समेत विभाग के अतिरिक्त सचिव को पत्र लिखकर वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा घटना की निरपेक्ष जांच कराने और तीन दिनों के अंदर रिपोर्ट देने को कहा है। वर्ष 1978 में संबलपुर शहर के पीर बाबा चौक के निकट तत्कालीन मुख्यमंत्री बीजू पटनायक ने होमियोपैथी कॉलेज सह हॉस्पिटल का उद्घाटन किया था। वर्ष 2015 में इस कॉलेज और वर्ष 2021 में इसके हॉस्पिटल को शहर से करीब 12 किमी दूर संबलपुर- राउरकेला बीजू एक्सप्रेस वे पर स्थित माझीपाली में निर्मित नए भवन में स्थानांतरित किया गया। रैगिंग कॉलेज के नए भवन के महिला हॉस्टल में हुई है।

31 मार्च को कॉलेज के महिला हॉस्टल में रहने वाली छात्राओं के बीच मेस के भोजन में गड़बड़ी को लेकर विवाद हुआ था। मेस का जिम्मा वर्तमान चार सीनियर छात्राएं संभाल रही हैं। विवाद के बाद मेस संभालने वाली सीनियर छात्राओं के खिलाफ अन्य छात्राओं ने कॉलेज के अध्यक्ष डॉ. राजेंद्र कुमार सिंह से लिखित शिकायत की थी। इस शिकायत पर जांच चल रही थी कि किसी सीनियर छात्रा ने दिल्ली स्थित नेशनल एंटी रैगिंग सेल को फोन कर रैगिंग की शिकायत कर दी। शिकायत में बताया गया कि हॉस्टल की पांच छात्रा और एक छात्र ने मिलकर चारों सीनियर छात्राओं के साथ अभद्र भाषा में गाली-गलौज करने समेत सबके सामने उन्हें निर्वस्त्र होने को कहा था। इस शिकायत को एंटी रैगिंग सेल ने गंभीरता से लेते हुए कॉलेज प्रशासन से जांच कर कार्रवाई का निर्देश दिया। इसकी के बाद कॉलेज की चार सदस्यीय जांच टीम घटना की जांच कर रही है।

स्वास्थ्यमंत्री नवकिशोर दास ने भी इस घटना को गंभीरता से लिया है। उन्होंने विभागीय सचिव को पत्र लिखकर वरिष्ठ अधिकारियों से घटना की जांच कराने और तीन दिन के अंदर जांच रिपोर्ट देने और कार्रवाई करने को कहा है। उन्होंने रैगिंग के नाम पर किसी को परेशान और जांच रिपोर्ट में दोषी पाए जाने वालों पर कार्रवाई का निर्देश दिया है। कॉलेज अध्यक्ष डॉ. राजेंद्र कुमार सिंह ने बताया है कि घटना की निरपेक्ष जांच के लिए गठित जांच टीम ने महिला हॉस्टल में रहने वाली छात्राओं समेत मेस के रसोई में काम करने वालों से पूछताछ कर उनका बयान दर्ज किया है और जांच रिपोर्ट भी मिल चुकी है। शिकायत में एक छात्र का नाम सामने आने के बाद उसे भी बुलाकर पूछताछ किया गया है। होली की छुट्टी होने से वह अपने गांव चला गया था।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021