संसू, संबलपुर : सोमवार की दोपहर संबलपुर से महाराष्ट्र के नांदेड़ की ओर जा रही नांदेड़ एक्सप्रेस ट्रेन महानदी ब्रिज पर करीब 45 मिनट रुकी रही। ब्रिज पर ट्रेन रुक जाने से यात्री आतंकित हो गए। उनके सामने एक तरफ खाई तो दूसरी तरफ कुंआ जैसी स्थिति पैदा हो गई। इसकी सूचना मिलते ही संबलपुर मंडल रेल प्रबंधक कार्यालय में अफरातफरी मच गई। आनन-फानन ट्रेन को ब्रिज से बाहर निकालने के लिए हीराकुद स्टेशन की ओर से डीजल इंजन भेजा गया। इसके बाद ट्रेन को ब्रिज से बाहर निकाल हीराकुद स्टेशन ले जाया गया। थोड़ी देर बाद ट्रेन नांदेड़ के लिए रवाना हुई। रेल मंडल कार्यालय की ओर से बताया गया कि ट्रेन के इलेक्ट्रिक इंजन में गड़बड़ी की वजह से गाड़ी ब्रिज तक पहुंच कर रुक गई थी।

उल्लेखनीय है कि संबलपुर-हीराकुद स्टेशन के बीच महानदी पर दशकों पुराना बिना गार्डर का ब्रिज है। पास में ही गार्डर वाला द्वितीय ब्रिज निर्माणाधीन है। इसी बिना गार्डर वाले ब्रिज पर 11.15 बजे से करीब 12 बजे तक नांदेड़ एक्सप्रेस ट्रेन रुक गई थी। ब्रिज से करीब 40 फीट नीचे महानदी है। जिसमें बारिश के बाद पानी नहीं के बराबर है। ट्रेन के ब्रिज पर रुक जाने से यात्री सहम गए थे। ट्रेन से नीचे गहरी खाई को देख कई यात्रियों ने डर कर अपनी आखें बंद कर ली और ट्रेन के हीराकुद स्टेशन पहुंचने पर आखें खोली।

Edited By: Jagran