जागरण संवाददाता, संबलपुर : उर्दू कविता के लिए सम्मानजनक गालिब सम्मान समेत अन्य कई पुरस्कार और सम्मान से सम्मानित विशिष्ट कवि बलराज कोमल को सम्मानजनक गंगाधर राष्ट्रीय सम्मान के लिए चयनित किया गया है। आगामी जनवरी प्रथम सप्ताह में संबलपुर विश्वविद्यालय के स्थापना दिवस समारोह में उन्हें यह सम्मान प्रदान किया जाएगा। गौरतलब है कि यह सम्मान पाने वाले बलराज कोमल देश के 21वें कवि हैं। वर्ष 1991 से अब तक देश के विभिन्न भाषाओं को जानेमाने विशिष्ट कवियों को यह सम्मान प्रदान किया जा चुका है।

25 सिंतबर 1928 को पाकिस्तान के सियालकोट में जन्में बलराज कोमल देश विभाजन के दौरान परिवार के साथ भारत आ गए थे और दिल्ली में रहने लगे। यहां रहने के दौरान उन्होंने उर्दू में शायरी और कविता लिखना शुरु कर दिया। उर्दू कविता में उनके उल्लेखनीय योगदान के लिए वर्ष 1985 में उन्हें कविता संकलन परिंदों भरा आसमान के लिए केंद्रीय साहित्य अकादमी पुरस्कार और वर्ष 2007 में गालिब सम्मान प्रदान किया गया। शायरी और कविता लिखने के अलावा बलराज एक अनुवादक के रूप में काफी प्रसिद्ध हैं। उन्होंने उर्दू, अंग्रेजी, हिंदी और पंजाबी भाषा की बहुत पुस्तकों का अनुवाद भी किया है।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस