जागरण संवाददाता, राउरकेला : कोइड़ा क्षेत्र में चल रहे सड़क निर्माण कार्य में नियोजित करने के लिए दलाल के द्वारा मुर्शिदाबाद से लाए गए पांच नाबालिग को राउरकेला रेलवे स्टेशन में पकड़ा गया एवं रेल पुलिस के हवाले किया गया। यहां से उन्हें बिसरा दिशा चाइल्डलाइन को सौंपा गया है।

गुरुवार की दोपहर को इस्पात एक्सप्रेस से चार पांच गुट में लोगों को लेकर दलाल आए थे। सिविल डिफेंस की ओर से कोरोना जांच के दौरान उनके टिकट व उम्र देख कर उनके नाबालिग होने का पता चला। इसके बाद उन्हें रेलवे पुलिस को सौंपा गया। पूछताछ में उन्होंने बताया कि सड़क निर्माण के काम में उन्हें लगाने के लिए लाया गया था। किशोरों को पकड़े जाने के बाद दलालों के द्वारा उन्हें छुड़ाने का प्रयास किया गया पर इसमें सफल नहीं हुए। पूछताछ करने के बाद रेल पुलिस के द्वारा नाबालिगों को दिशा चाइल्डलाइन को सौंपा गया। वहां से उन्हें परिवार वालों तक वापस भेजने का प्रबंध किया जाएगा। जायेगा। सड़क निर्माण तथा अन्य क्षेत्रों में कम मजदूरी पर काम कराने के लिए दलाल पश्चिम बंगाल से युवा व किशोरों को लेकर आ रहे हैं। तीन दिन पहले भी स्टेशन से सात किशोरों को पकड़ा गया था एवं चाइल्डलाइन को सौंपा गया था। युवकों से रंगदारी मांगने के आरोप में एक युवक गिरफ्तार : सेक्टर-6 में दुर्गापुर पहाड़ी पर युवतियों को लेकर जाने को लेकर युवकों से रंगदारी मांगने एवं मारपीट करने के बाद दो गुटों में संघर्ष हुआ था। इसमें तीन लोगों को चोट लगी थी। इस मामले की छानबीन कर रही पुलिस ने एक युवक को गिरफ्तार किया है जबकि छह आरोपित फरार हैं जिनकी तलाश की जा रही है।

सेक्टर-15 इलाके के कुछ युवक युवतियों के साथ पहाड़ी पर गए थे। आपत्तिजनक हालत में उन्हें देख कर स्थानीय युवकों ने उन्हें पकड़ लिया और मारपीट करने के साथ मोबाइल लेकर रुपये मांगे थे। इसी बात को लेकर दोनों गुट के युवकों के बीच जमकर मारपीट हुई थी। इसमें तीन युवकों को चोट लगी। सूचना मिलने पर सेक्टर-7 थाना की पुलिस मौके पर पहुंचकर घायलों को इलाज के लिए अस्पताल भेजा था। इस मामले में जख्मी मो. सरफराज की शिकायत पर एक आरोपित को गिरफ्तार किया गया है जबकि अन्य आरोपित फरार हो गए हैं।

Edited By: Jagran