बामड़ा/भुवनेश्वर, संवाद सूत्र। ओडिशा के संबलपुर जिले में एक दर्दनाक हादसा हो गया। जिले के बामड़ा प्रखंड के गड़पोष पंचायत की करलाखमन गांव के डूमरमुंडा चौक पर पेड़ पर टकराकर एक बोलेरे में आग लग गई जिसके चलते उसमें सवार युवक जिंदा जल गया। मृतक की पहचान बामडा प्रखंड के पिंडापत्थर पंचायत अंतर्गत परमानपुर भेटापड़ा गांव निवासी सुरेश लुगुन(26) के रूप में हुई है।

बहन की सगाई कर लौट रहा था युवक

बताया जा रहा है कि वह अपनी बहन का सगाई कर झारखंड के सिमडेगा जिला अंतर्गत बिरकु गांव से लौट रहा था। वहीं इस दुर्घटना में बोलेरो सवार सुरेश का छोटा भाई सुलेमान लुगुन(24), नवीन लुगुन (20) और रिश्तेदार प्रमोद एक्का(15 ) उसे बचाने के क्रम झुलस गए थे। सभी को इलाज के लिए पडो़सी जिला सुंदरगढ़ के राउरकेला शहर स्थित इस्पात जनरल अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उनका इलाज चल रहा है।

किराए की गाड़ी से कर रहे थे सफर

घटना सोमवार की रात साढ़े नौ बजे के आसपास की बताई जी रही है। दुर्घटना के बाद चालक खुद का सीट बेल्ट खोलकर घटनास्थल से फरार हो गया था। उधर चीख-पुकार सुनकर स्थानीय ग्रामीण घटना स्थल पर पहुंचे थे। ग्रामीणों की सूचना पर गारपोष पुलिस चौकी इंचार्ज देवराज साहू और गोबिंदपुर थाना अधिकारी विधुभूषण मिश्र भी मौके पर पहुंचे थे। सुंदरगढ़ जिले के कुतरा से अग्निशमन विभाग ने घटनास्थल पहुंच कर आग पर काबू पाया था। पुलिस ने इस संबंध में एक मामला दर्ज कर घटना की जांच शुरू कर दी है। मंगलवार को मृतक सुरेश का बामड़ा का अस्पताल में पोस्टमार्टम किया गया था। दुर्घटनाग्रस्त बोलेरो गाड़ी सुंदरगढ़ जिले के कुतरा निवासी संजीव खेस की थी और उसने भाड़े पर उसे सुरेश को दी थी। एमवीआइ की टीम भी दुर्घटना की जांच के लिए मंगलवार को घटनास्थल पहुंची थी।

कैसे हुआ हादसा

सूचना अनुसार बामडा प्रखंड पिंडापत्थर पंचायत परमानपुर भेटापड़ा गांव का सुरेश लुगुन(26) अपनी बहन सुनीता की सगाई कार्यक्रम में शामिल होने झारखंड राज्य के सिमडेगा जिले के बिरकु गांव गया था। सुरेश के साथ उसका छोटा भाई सुलेमान लुगुन, नबीन लुगुन और रिश्तेदार प्रमोद एक्का गए थे। सोमवार की रात को गांव लौटने के दौरान करलाखमन के पास बोलेरो अनियंत्रित होकर पेड़ से टकरा गई थी और गाड़ी में आग लग गई। सुरेश चालक के साथ आगे बैठा था। चालक तो अपनी सीट बेल्ट खोलकर गाड़ी से निकल गया। लेकिन सुरेश का सीट बेल्ट फंस गया था। बोलेरो गाड़ी के पीछे बैठे सुलेमान, नबीन और प्रमोद ने सामने बैठे भाई सुरेश का सीट बेल्ट खोलने की कोशिश करने के बावजूद सीट बेल्ट न खुलने पर वे गाड़ी से उतर गए थे। वहीं बोलेरो गाड़ी के साथ सुरेश भी जिंदा जल कर खाक हो गया था।

Edited By: Yashodhan Sharma

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट