Move to Jagran APP

Odisha News: जगन्नाथ धाम में प्रभु बलभद्र को रथ से उतारने के दौरान हादसा, 5 सेवक घायल; CM माझी ने घटना पर जताया दुख

Odisha News पुरी जगन्‍नाथ धाम में आज शाम करीब 7.30 बजे चतुर्धा विग्रहों की आड़प मंडप में पहंडी बिजे शुरू हुई। सबसे पहले चक्रराज सुदर्शन जी को पहंडी में आड़प मंडप में लाया इसके बाद प्रभु बलभद्र जी को तालध्वज रथ से पहंडी में लाया गया। इस दौरान प्रभु बलभद्र को पहंडी में ले जाते समय बलभद्र की मूर्ति ऊपर से झुक गई जिसके कारण पांच लोग घायल हो गए।

By Sheshnath Rai Edited By: Prateek Jain Tue, 09 Jul 2024 11:46 PM (IST)
घायल सेवकों को एम्बुलेंस से अस्पताल ले जाते हुए कर्मी।

जागरण संवाददाता, भुवनेश्वर। पुरी जगन्नाथ धाम में मंगलवार को शरधाबाली में आड़प पहंडी बिजे के समय हादसा हो गया। इसमें 5 सेवक घायल हो गए हैं। घायलों को पुरी जिला मुख्य अस्पताल में भर्ती किया गया है।

मंगलवार की शाम करीब 7.30 बजे चतुर्धा विग्रहों को मौसी घर में विराजमान करने का अनुष्ठान शुरू हुआ। सबसे पहले चक्रराज सुदर्शन को पहंडी में आड़प मंडप में लाया गया।

इसके बाद प्रभु बलभद्र को तालध्वज रथ से पहंडी में लाया गया। हालांकि, प्रभु बलभद्र को पहंडी में ले जाते समय बलभद्र की मूर्ति ऊपर से झुक गई।

सेवक मूर्ति को सावधानी से पकड़े हुए थे, जिससे मूर्ति तो नीचे नहीं गिरी परंतु इसमें पांच से अधिक सेवादार घायल हो गए।

घायलों को तत्काल बाहर निकालकर जिला मुख्यालय अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां पर उनका इलाज चल रहा है। वहीं, पहंडी बिजे कर प्रभु बलभद्र को आड़प मंडप में विराजमान करा दिया गया है।

प्रभु बलभद्र जी के आड़प मंडप में पहंडी के दौरान अघटन के दृश्य। (फोटो- इंटरनेट मीडिया)

इस घटना को एक दुर्लभ घटना बताया जा रहा है। भगवान जगन्नाथ को सदियों से पहंडी में आड़प मंडप में विराजमान कराया जाता है, परंतु ऐसी घटना कभी नहीं हुई।

आज के कार्यक्रम में छोटी-मोटी लापरवाही के चलते ऐसी घटनाएं होने की बात कही जा रही है। हालांकि, घटना की जांच के बाद असली तथ्य सामने आएंगे।

मुख्यमंत्री माझी ने घटना पर जताया दुख 

वहीं, मुख्यमंत्री मोहन चरण माझी ने पहंडी बिजे के दौरान शारदाबली में हुई घटना पर दुख व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री ने घायल सेवादारों के शीघ्र स्वस्थ होने की भी कामना की।

यह भी पढ़ें: Odisha Accident News: सड़क दुर्घटना में 1 छात्रा की मौत, ड्राइवर को बंधक बना धरने पर बैठी छात्राएं

Puri Jagannath Temple: अनुमति मिलते ही इस दिन खुलेगा रत्न भंडार, चाबी ने नहीं किया काम तो तोड़ा जाएगा ताला