Move to Jagran APP

Odisha Car Accident: ओडिशा के बीजद के निलंबित विधायक ने चुनाव के लिए जमा लोगों पर चढ़ा दी गाड़ी, 22 घायल

Odisha Car Accident ओडिशा के खुर्दा में बीजद के निलंबित विधायक प्रशांत जगदेव ने बाणपुर ब्लाक कार्यालय में मौजूद लोगों पर अपनी कार चढ़ा दी। इस घटना में 22 से अधिक लोग घायल हुए हैं जिसमें बाणपुर के थाना प्रभारी सहित सात पुलिस कर्मचारी भी शामिल हैं।

By Sachin Kumar MishraEdited By: Sat, 12 Mar 2022 09:38 PM (IST)
ओडिशा में बीजू जनता दल के निलंबित विधायक ने भीड़ पर चढ़ा दी कार, 22 घायल। फोटो जागरण

भुवनेश्वर, जागरण संवाददाता। ओडिशा के चिलिका क्षेत्र के बीजू जनता दल (बीजद) के निलंबित विधायक प्रशांत जगदेव ने शनिवार दोपहर बानपुर ब्लाक अध्यक्ष चुनाव के लिए जमा लोगों की भीड़ में तेज गति से कार घुसा कर कई लोगों को रौंद डाला। इस घटना में 22 लोग घायल हुए हैं। इनमें बानपुर के थाना प्रभारी समेत सात पुलिसकर्मी और कई महिलाएं भी शामिल हैं। घटना के बाद उत्तेजित लोगों ने मौके पर ही विधायक को पीट-पीट कर अधमरा कर दिया। वहीं उनकी गाड़ी में तोड़फोड़ कर आग लगा दी। विधायक को गिरफ्तार कर पुलिस ने उन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया है। घटना के बाद इलाके में स्थिति तनावपूर्ण है। मौके पर दो प्लाटून पुलिस बल की तैनाती कर दी गई है। देर शाम तक पुलिस-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी मौके पर पहुंच कर स्थिति नियंत्रण में जुटे थे।

सात पुलिसकर्मी भी हुए घायल

बानपुर ब्लाक कार्यालय परिसर में शनिवार को ब्लाक अध्यक्ष का चुनाव चल रहा था। ब्लाक के बाहर लगभग 700 लोग जमा थे। मौके पर पुलिस बल भी तैनात था। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार इसी समय अचानक विधायक प्रशांत जगदेव अपनी एसयूवी कार चलाते हुए वहां पहुंचे और तेज गति से गाड़ी को भीड़ के अंदर घुसा दिया। विधायक की गाड़ी की चपेट में आकर विभिन्न राजनीतिक दलों के 15 से अधिक समर्थक तथा सात पुलिसकर्मी घायल हो गए। घटना के बाद जहां मौके पर चीख-पुकार मच गई, वहीं आक्रोशित लोगों ने विधायक को गाड़ी के अंदर से खींचकर उनकी जमकर पिटाई कर दी। गंभीर रूप से घायल हो विधायक को पहले टांगी मेडिकल ले जाया गया, जहां प्राथमिक इलाज के बाद बेहोशी की हालत में उन्हें भुवनेश्वर रेफर किया गया है। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि विधायक नशे में धुत थे। विधायक को बीजू जनता दल (बीजद) से निलंबित किया जा चुका है। 

सभी दलों ने की कार्रवाई की मांग

विधायक द्वारा लोगों पर गाड़ी चढ़ाने की घटना की बीजद समेत सभी राजनीतिक दलों ने कड़ी निंदा की है। भाजपा के विधायक तथा वरिष्ठ नेता पृथ्वीराज हरिचंदन ने कहा है कि विधायक शराब पीकर गाड़ी चला रहे थे। लोगों पर अपना गुस्सा निकालने के लिए उन्होंने भीड़ में गाड़ी घुसा दी। इस तरह का कार्य एक स्वस्थ मस्तिष्क वाला व्यक्ति कभी भी नहीं करेगा। ऐसे व्यक्ति का स्थान केवल जेल में है। सरकार को तुरंत उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई करनी चाहिए। भाजपा की तरफ से कहा गया है कि यह केवल विधायक चरित्र नहीं है, बल्कि यह बीजद का चरित्र है। बीजद की इस गुंडागर्दी को लोग देख रहे हैं। बीजद के वरिष्ठ नेता देवी प्रसाद मिश्र ने कहा है कि लोकतंत्र में हिंसा का कोई स्थान नहीं है। विधायक हों या फिर आम लोग, हिंसा किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं की। बीजद के राष्ट्रीय प्रवक्ता सस्मित पात्र ने कहा है कि इस घटना की जितनी भी निंदा की जाए, वह कम है।

सख्त कार्रवाई होगीः एसपी

खुर्दा के एसपी अखिलेश चंद्र ने कहा कि घटना की जांच की जा रही है। घटना के लिए जो भी दोषी हैं, उन पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। मौके पर अधिक संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। सभी घायलों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती किया गया है। 

पुलिस ने विधायक के खिलाफ कई धाराओं में केस दर्ज किया है। आईसीयू में भर्ती विधायक को पुलिस गिरफ्तार भी कर सकती है।

महिला तहसीलदार की पिटाई से लेकर पुरी एसपी को धक्का मारने जैसी घटना को दे चुका है अंजाम

चिलिका विधानसभा क्षेत्र में बाहुबली के नाम से चर्चित हैं विधायक प्रशांत जगदेव। कर्मियों पर पीटने, सरकारी कर्मचारियों के साथ दुर्व्यवहार करने के साथ गुंडागर्दी करने जैसे मामले विधायक के लिए आम बात है। इसी कारण से उन्हें बीजद से निलंबित भी किया गया था। हालांकि इसके बावजूद वह पार्टी कार्यालय आते थे और दूसरे पार्टी के नेताओं को अपनी पार्टी में शामिल करवाते रहे और किस प्रकार से चुनाव में पार्टी की जीत होगी उसके लिए लगे हुए थे। 18 जनवरी, 2022 को प्रशांत जगदेव के तत्वावधान में दलीय कार्यालय में एक मिश्रण कार्यक्रम हुआ था, जिसमें प्रशांत जगदेव अपने समर्थकों के साथ पहुंचे थे। उनकी उपस्थिति में चिलिका ब्लाक अध्यक्ष भाजपा छोड़कर बीजद में शामिल हुए थे। यहां सवाल उठता है कि निलंबित होने के बावजूद वह किस प्रकार से पार्टी दफ्तर आ रहे थे।

गुंडागर्दी में बना है रेकार्ड

विधायक प्रशांत जगदेव के लिए आज की घटना कोई नई घटना नहीं है। पिछले सितम्बर महीने में खुर्दा जिले के बालुगां एनएसी दफ्र के सामने भाजपा मंडल अध्यक्ष एवं एक पत्रकार की पिटाई कर विधायक ने आतंक का माहौल बना दिया था। इस घटना के बाद आठ सितंबर को पार्टी के सुप्रीमो नवीन पटनायक ने उन्हें पार्टी से निलंबित कर दिया था। इसके बाद उनकी गिरफ्तारी हुई और फिर जमानत पर वह बाहर आए। हालांकि आज भी बीजद ने उनके इस कार्य की कड़े शब्दों में निंदा किया है।

महिला तहसीलदार की पिटाई से लेकर पुरी एसपी को धक्का मारने जैसी घटना को दे चुका है अंजाम

बोलगड़ में महिला तहसीलदार की पिटाई करने, पुरी एसपी को धक्का मारने, बौद्ध मनमुंडा में काला झंडा दिखाने वाले भाजपा कार्यकर्ताओं की पिटाई करने जैसे 10 से अधिक मामले उनके नाम पर दर्ज है। यहां तक कि अपने ही पार्टी के कार्यकर्ताओं की पिटाई करने का भी मामला उनके नाम पर है। इन सब मामलों के बावजूद उनके खिलाफ अभी तक कोई सख्त कदम नहीं उठाए गए थे। केवल बालुगांव घटना के बाद उन्हें पार्टी से निलंबित किया गया था। हालांकि इसके बावजूद यह बाहुबली विधायक दलीय कार्य में पूरी तरह से सक्रिय था।