लंदन, प्रेट्र। आंत में पाया जाने वाला बैक्टीरिया (गट बैक्टीरिया) इंसानों को कई तरह की बीमारियों से बचाता है। यह पाचन तंत्र को भी मजबूत करता है। गट बैक्टीरिया में विविधता स्वास्थ्य के लिए बेहतर माना जाता है। जीका वायरस: ब्राजील में 91,387 मामलों की पुष्टि ताजा अध्ययन के मुताबिक खानपान का इस पर बहुत ज्यादा असर पड़ता है। नीदरलैंड्स के शोधकर्ताओं ने अपने तरह के पहले अध्ययन में इसका पता लगाया है। उनके मुताबिक दही या छाछ के रोजाना सेवन से गट बैक्टीरिया की विविधता बढ़ती है, जबकि दूध या उच्च कैलोरी वाले खाद्य पदार्थो से इसमें कमी आती है। इसका मतलब यह हुआ कि ज्यादा कैलोरी वाले पदार्थो के सेवन से पाचन प्रक्रिया में गड़बड़ी का खतरा ज्यादा रहता है।

ये बैक्टीरिया घातक प्लास्टिक को चट कर जाते हैं

वैज्ञानिकों ने बताया कि 60 तरह के आहार कारक गट बैक्टीरिया की विविधता को प्रभावित करते हैं। इसके अलावा 19 तरह की दवाएं भी इसमें सहायक होती हैं।

Posted By: Monika minal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस