वाशिंगटन। आतंकी गुट इस्लामिक स्टेट (आइएस) को एक बड़ा झटका लगा है। उत्तरी इराक में आइएस का दूसरे नंबर का कमांडर अमेरिकी सेना के विमान हमले में मारा गया।

ह्वाइट हाउस के प्रवक्ता नेड प्राइस ने बताया कि फादिल अहमद अल हयाली 18 अगस्त को इराक में मोसुल के निकट विमान हमले में मारा गया। हमले के समय वह आइएस का मीडिया संबंधी काम देखने वाले अबू अब्दुल्ला के साथ एक वाहन में सवार होकर जा रहा था। हयाली को हाजी मुताज के नाम से भी जाना जाता था। हमले में अबू अब्दुल्ला भी मारा गया। हयाली आइएसआइएल शूरा परिषद का सदस्य था और वह आइएस नेता अबू बकर अल बगदादी का वरिष्ठ उप प्रमुख था। वह बड़ी संख्या में हथियारों, विस्फोटकों, वाहनों और लोगों को इराक और सीरिया के बीच लाने-ले जाने में प्रमुख समन्वयक का काम करता था। वह इराक में आइएस के अभियानों का प्रभारी था। उसने इराक में पिछले दो वर्षों में अभियानों की योजना बनाने में अहम भूमिका निभाई। इनमें जून 2014 में मोसुल पर हुआ हमला भी शामिल है। हयाली पूर्व इराकी शासक सद्दाम हुसैन की सेना में लेफ्टिनेंट कर्नल था। बाद में वह इराक में आइएस के पूर्ववर्ती अल कायदा में शामिल हो गया।

प्राइस ने कहा कि अल हयाली का प्रभाव आइएस के वित्त, मीडिया, अभियानों और साजोसमान संबंधी कामों में था, इसलिए उसकी मौत से आतंकी गुट के अभियानों पर प्रतिकूल असर पड़ेगा। उन्होंने कहा कि अमेरिका और उसके सहयोगी आइएस का प्रभाव कम करने और उसे नष्ट करने के लिए प्रतिबद्ध हैं जिसने लोगों को कष्ट और दुख पहुंचाया है। अमेरिका और उसके सहयोगी इराक और सीरिया में आइएस के खिलाफ प्रतिदिन हवाई हमले कर रहे हैं। पिछले महीने सीरिया के राक्का में आइएस का एक वरिष्ठ आतंकी ड्रोन हमले में मारा गया था।

हवाई हमलों में 25 ढेर

इराकी लड़ाकू विमानों के हमले में शनिवार को 25 आइएस आतंकी मारे गए। शिन्हुआ ने बताया कि इराक के पश्चिमी प्रांत अनबार के अल्बू हयात में हमलों में 15 और फलुज्जाह के पास हमलों में 10 आतंकी मारे गए।

मिस्र में सिक्योरिटी बिल्डिंग के बाहर धमाका, 6 घायल

पाकिस्तान में ही है दाऊद

पाकिस्तान की पैंतरेबाजी

अातंकवाद पर वार्ता से भागा पाक, अजीज नहीं आएंगे भारत

Posted By: Rajesh Niranjan

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस