नई दिल्‍ली (आनलाइन डेस्‍क)। अरबपति कारोबारी एलन मस्‍क द्वारा सोशल मीडिया साइट ट्विटर के अधिग्रहण के तुरंत बाद इसके सीईओ पराग अग्रवाल की छुट्टी कर देना सभी को बड़ा ही अजीब लग रहा है। अजीब इसलिए क्‍योंकि मस्‍क ने करीब 11 माह पहले ही पराग की जमकर तारीफ की थी। मस्‍क ने ऐसा तब कहा था जब पराग ने ट्विटर के सीईओ का पदभार संभाला था। उन्‍होंने अच्‍छे भविष्‍य के लिए पराग को शुभकामनाएं भी दी थीं।

पराग को हटाया 

ये उन्‍होंने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर ट्वीट कर कहा था। उन्‍होंने ये ट्वीट 30 नवंबर 2021 को किया था। लेकिन, अब जबकि उन्‍होंने इसका अधिग्रहण कर लिया तो पराग समेत कई शीर्ष अधिकारियों को हटा दिया गया। ट्विटर के कर्मचारियों की छुट्टी की बात करें तो ये केवल शीर्ष अधिकारियों तक ही सीमित नहीं रहने वाली है बल्कि हजारों लोगों की नौकरियों पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं। मस्‍क कास्‍ट कटिंग के साथ इसके मुनाफे को बढ़ाने की कवायद कर रहे हैं। बहरहाल, ये तो वक्‍त ही बताएगा कि वो कितना सही हैं या गलत। बता दें कि मस्‍क ने ये सौदा 44 बिलियन डालर में किया है। 

पराग की हंसी उड़ानी पड़ी भारी

पराग को लेकर ही यदि बात करें तो 11 माह (नवंबर 2022) पहले उन्‍होंने कहा था कि ट्विटर को भारतीय टैलेंट का भूरपूर साथ मिल रहा है। इसके बाद दिसंबर 2022 में उन्‍होंने पराग की हंसी उड़ाई थी जो उन पर भारी पड़ गई थी। दसअसल, उन्‍होंने पराग की तुलना सोवियत नेता जोजेफ स्टैलिन से की थी। उन्‍होंने एक मीम जारी कर पराग को स्‍टालिन और जैक डॉर्सी को उनका करीबी सहयोगी बताया था। इस पर यूजर्स की कड़ी प्रतिक्रिया आई थी और मस्‍क खुद मजाक का पात्र बन गए थे।

देना होगा मुआवजा 

पराग अग्रवाल को ट्विटर के सीईओ पद से नवंबर 2022 से पहले हटाने पर मस्क को पराग को 42 मिलियन डॉलर (322 करोड़ रुपये) का मुआवजा देना होगा।

पराग के ट्वीट 

मई में जब मस्‍क ने इस डील को होल्‍ड पर रख दिया था तब पराग ने सिलसिलेवार कई ट्वीट किए थे। इसमें कहा गया था कि उनका काम ट्विटर को बेहतर बनाना है।

मस्‍क की धमकी 

जुलाई में जब ट्विटर डील (Twitter Deal) के रद होने की बात सामने आई थी तब ये भी सामने आया था कि मस्‍क ने पराग को धमकी भरा मैसेज तक भेजा था।

जानिए- कुछ वर्षों बाद कहां बंद हो जाएगी पेट्रोल-डीजल कारों की बिक्री और इनका चलना, क्‍यों लिया ये फैसला

PTI Long March: इमरान खान का लान्‍ग मार्च शहबाज सरकार के लिए बन सकता है मुसीबत, जानें- पीटीआई चीफ ने क्‍या कहा

Edited By: Kamal Verma

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट