नई दिल्ली, एजेंसी। चक्रवाती तूफान जवाद के 4 दिसंबर को राज्य में पहुंचने की संभावना के बाद सभी जिलों में ओडिशा सरकार ने अलर्ट जारी कर दिया है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने अगले 48 घंटों में दक्षिण अंडमान सागर के ऊपर एक कम दबाव का क्षेत्र बनने और इसके चक्रवात में बदलने की संभावना की भविष्यवाणी की है। IMD के अनुसार, चक्रवाती तूफान के 4 दिसंबर को ओडिशा तट से टकराने की संभावना है। इस बीच, चक्रवात के पूर्वानुमान के बीच ओडिशा के कुछ जिलों में रेड अलर्ट जारी किया गया है। राज्य ने बचाव और राहत कार्यों के लिए एनडीआरएफ, ओडीआरएएफ और दमकल विभाग के कर्मियों को बुलाकर आपदा प्रबंधन रणनीति भी तैयार की है।

आईएमडी ने अगले कुछ दिनों में 'भारी' से 'बहुत भारी' बारिश की भविष्यवाणी करते हुए कुछ जिलों में रेड, आरेंज और येलो अलर्ट भी जारी किया है। मौसम कार्यालय ने कहा कि दक्षिण अंडमान सागर और आसपास के क्षेत्र में बना निम्न दबाव का क्षेत्र भारी होते हुए 3 दिसंबर के आसपास एक चक्रवाती तूफान का रूप ले लेगा। सिस्टम उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ेगा और 4 दिसंबर के आसपास उत्तरी आंध्र प्रदेश-ओडिशा तट पर पहुंच जाएगा। चक्रवात जवाद पर आईएमडी वैज्ञानिक उमाशंकर दास बोले, '4 जिलों में रेड वार्निंग जारी, 7 जिलों में भारी से बहुत भारी बारिश को लेकर आरेंज अलर्ट जारी। मछुआरों को 3 से 5 दिसंबर तक समुद्र में न जाने की सलाह दी गई।'

Koo App

Weather Status - 02.12.2021 The Low Pressure Area over Southeast Bay of Bengal and adjoining Andaman Sea now lies as a Well Marked Low Pressure area over the same region.

View attached media content

- Prasar Bharati News Services (@pbns_india) 2 Dec 2021

4 दिसंबर को ओडिशा तट से टकराने वाले चक्रवाती तूफान के मद्देनजर, IMD ने गजपति, गंजम, पुरी और जगतसिंहपुर जिलों के लिए रेड अलर्ट जारी किया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में चक्रवात से संबंधित स्थिति पर एक बैठक की अध्यक्षता की। तूफान को लेकर अधिकारियों से बातचीत में सभी जरूरी दिशा-निर्देश उठाने के दिए निर्देश

गुजरात क्षेत्र में होगी भारी बारिश! उत्तर प्रदेश, हरियाणा, दिल्ली में गरज के साथ होगी छिटपुट बारिश

एक और प्रणाली भारत के पश्चिमी तट को प्रभावित करने के लिए नजर आ रही है। नवीनतम पूर्वानुमान के अनुसार, महाराष्ट्र के पश्चिम में एक चक्रवाती परिसंचरण द्वारा गुरुवार को गुजरात और महाराष्ट्र के तट पर स्थानीय रूप से 50 मिमी की भारी बारिश होने की संभावना है।

इस बीच, उत्तर भारत में, एक ताजा पश्चिमी विक्षोभ गुरुवार को हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के कुछ हिस्सों में बारिश या हिमपात ला सकता है। अगले डब्ल्यूडी के इस सप्ताह के अंत से अगले सप्ताह की शुरुआत तक यह क्षेत्र प्रभावित हो सकते हैं।

गुरुवार को गुजरात, पश्चिम मध्य प्रदेश और आसपास के क्षेत्रों में अधिकतम तापमान सामान्य से काफी नीचे रहने की संभावना है। इस बीच, पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र और पूर्वोत्तर भारत में कई दिनों तक रीडिंग सामान्य से काफी अधिक हो जाएगी।

अब प्वाइंट में जानें, आने वाले मौसम का पूर्वानुमान..

- आज अंडमान और निकोबार द्वीप समूह और गुजरात क्षेत्र के कुछ हिस्सों में भारी बारिश की संभावना है।

- उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में गरज के साथ भारी बारिश या हिमपात की संभावना जताई गई है।

- पूर्वी राजस्थान, केरल, माहे और लक्षद्वीप में गरज के साथ व्यापक बारिश होने की संभावना है।

- पश्चिमी मध्य प्रदेश, गुजरात क्षेत्र, कोंकण, गोवा, मध्य महाराष्ट्र, मराठवाड़ा और कर्नाटक में गरज के साथ छिटपुट बारिश संभव है।

-ओडिशा, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, पंजाब, जम्मू और कश्मीर, लद्दाख, पश्चिमी राजस्थान, पूर्वी मध्य प्रदेश, सौराष्ट्र, कच्छ, विदर्भ, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल में गरज के साथ छिटपुट बारिश की संभावना है।

Edited By: Nitin Arora