कोयंबटूर, एएनआइ। देशभर में पड़ रही भीषण गर्मी से जनजीवन अस्त-व्यस्त है। ज्यादातर राज्यों में पारा 45 डिग्री को पार कर गया है, जिसकी वजह से लोगों का जीना मुहाल हो गया है। तमिलनाडु के ज्यादातर इलाके भीषण गर्मी की मार झेल रहे हैं। जबरदस्त गर्मी और लू के कारण राज्य की झीलें सूख गई हैं। कोयंबटूर की चिंतामणि झील की ज्यादातर मछलियां मर गई हैं।

एआइएडीएमके के नेता डी जयकुमार ने कहा है कि जल प्रबंधन काफी महत्वपूर्ण विषय है। हम जितना कर सकते हैं, उससे ज्यादा कर रहे हैं। कम बारिश होने के बाद भी लगभग 400 से ज्यादा पानी के टैंकर पानी पहुंचाने के काम में लगे हुए हैं। उन्होंने कहा कि इस समय राजनीति करना ठीक नहीं है। 

गर्मी के कारण राज्य के ज्यादातर इलाकों में पीने के पानी का आभाव हो गया है। चेन्नई में टैंकरों से पानी लेने के लिए टोकन जारी किया जा रहे हैं। लोगों का कहना है कि इससे पहले हमने कभी भी एसी स्थिती का सामना नहीं किया है। हालात इतने ज्यादा खराब हो गए हैं कि बोरवेल से पानी नहीं आ रहा है। कुएं का पानी भी औसत से बहुत नीचे चला गया है। उन्होंने आरोप लगाया है कि उनके क्षेत्र में टैंकरों के माध्यम से पानी की आपूर्ति नियमित रूप से नहीं की जा रही है। लोगों का कहना है कि पहले पानी की आपूर्ति नियमित थी, लेकिन अब ये बहुत कम हो गई है। 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Manish Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप