उज्जैन, जेएनएन। उज्जैन जिले के उन्हेल थाना क्षेत्र के ग्राम मालीखेड़ी में पारदी मोहल्ला में सोमवार को कोरोना टीकाकरण के लिए गई टीम पर ग्रामीणों ने हमला कर दिया। लट्ठ लगने से सहायक सचिव के पति को सिर में गंभीर चोट आई है। कई लोग लाठी लेकर भीड़ पर हमला करने के लिए आए थे। तहसीलदार व वैक्सीनेशन टीम को वहां से भागकर जान बचाना पड़ी। पुलिस ने तीन आरोपितों के खिलाफ दो केस दर्ज किए हैं।

बता दें कि मालीखेड़ी गांव में जीरो फीसद ही टीकाकरण है। एएसपी आकाश भूरिया ने बताया कि सोमवार को तहसीलदार अन्नू जैन, विवेक माहेश्वरी व टीकाकरण टीम उन्हेल थाना क्षेत्र के ग्राम मालीखेड़ी गई थी। वहां ग्रामीणों को समझाइश दी जा रही थी। ग्रामीण अफवाह के कारण टीके के लिए तैयार नहीं थे।

भीड़ में से एक व्यक्ति लाठी लेकर आया और तहसीलदार अन्नू जैन के वाहन पर हमला करने लगा था। इस पर मोहम्मद शकील कुरैशी ने रोका तो उनके सिर पर ही लाठी से हमला कर दिया। इससे शकील के सिर में गंभीर चोट लगी। हमला होने के बाद वहां भगदड़ की स्थिति बन गई।

यूपी के बाराबंकी में वैक्सीन की डर से नदी में कूदे लोग

वहीं, दूसरी ओर राजधानी लखनऊ से सटे जिले बाराबंकी में 1500 लोगों की आबादी वाले गांव में लोगों को जैसे ही पता चला कि आज उनके गांव में कोरोना वैक्सीनेशन होना है, यह लोग भागकर नदी में कूद गए। करीब कमर भर पानी की गहराई में बैठे इन लोगों का कहना था कि हमको पता है कि अगर हम लोग यह वैक्सीन लगवा लेंगे तो हम लोग मर जाएंगे। किसी तरह से एसडीएम ने इनको समझाया तब यह लोग पानी से बाहर निकले।