Move to Jagran APP

कर्नाटक में चड्डी-बनियान गिरोह का आतंक, दो पुलिसकर्मियों पर किया हमला; घर में घुसकर बुजुर्ग के साथ भी की मारपीट

कर्नाटक में पुलिस पर हमला करने की घटना सामने आई है। पुलिस ने घटना के बारे में जानकारी देते हुए बताया है कि दो पुलिसकर्मी घायल हो गए जब मध्य प्रदेश के चड्डी-बनियान गिरोह के सदस्यों ने यहां के पास मुल्की में महजार (अपराध स्थल का मनोरंजन) के दौरान कथित तौर पर उन पर हमला कर दिया। गिरोह के चार सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

By Agency Edited By: Shubhrangi Goyal Wed, 10 Jul 2024 02:55 PM (IST)
कर्नाटक में पुलिसकर्मियों को गैंग ने हमला कर किया घायल (फाइल फोटो)

पीटीआई, मंगलुरु। कर्नाटक में पुलिस पर हमला करने की घटना सामने आई है। पुलिस ने घटना के बारे में जानकारी देते हुए बताया है कि दो पुलिसकर्मी घायल हो गए, जब मध्य प्रदेश के 'चड्डी-बनियान गिरोह के सदस्यों ने यहां के पास मुल्की में महजार (अपराध स्थल का मनोरंजन) के दौरान कथित तौर पर उन पर हमला कर दिया।

पुलिस ने आगे बताया है कि गिरोह के चार सदस्यों को हसन के सकलेशपुर में गिरफ्तार किया गया और उन्हें मुल्की लाया गया, वहां से वे 8 जुलाई को कोटेकानी इलाके में 15 लाख रुपये की नकदी, आभूषण लूटने और एक बुजुर्ग दंपति को घायल करने के बाद बेंगलुरु की ओर भाग गए थे। पुलिस ने कहा कि सकलेशपुर पुलिस और केएसआरटीसी (कर्नाटक राज्य सड़क परिवहन निगम) के अधिकारियों की मदद से मंगलुरु पुलिस ने अपराध के पांच घंटे के अंदर उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

हमला करने के बाद भाग रहे थे आरोपी

पीड़ित पुलिस के अनुसार, पुलिस टीम ने उन कथित अपराधियों पर गोलीबारी की जो उन पर हमला करने के बाद भागने की कोशिश कर रहे थे। घायल पुलिसकर्मियों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है और उनकी हालत में सुधार बताया जा रहा है। पैर में गोली लगने वाले आरोपियों को मंगलुरु शहर के सरकारी वेनलॉक अस्पताल के पुलिस वार्ड में रखा गया है।

गिरोह ने बुजुर्ग दंपत्ति के साथ की मारपीट

बता दें कि 'चड्डी-बनियान' गिरोह के सदस्यों ने सुबह कथित तौर पर शहर के उर्वा पुलिस सीमा के कोटेकानी इलाके में घर में घुसकर बुजुर्ग दंपत्ति के साथ मारपीट की और उन्हें धमकी दी और नकदी और सोने के आभूषण ले गए। साथ ही उनकी कार भी ले गये। पुलिस ने बताया कि सभी आरोपी मध्य प्रदेश के रहने वाले हैं।

यह भी पढ़ें: Hathras Stampede: जिन पुलिसकर्मियों के कंधाें पर थी भीड़ की सुरक्षा की जिम्मेदारी, वो बाबा के सत्संग में लीन दिखे