राज्‍य ब्‍यूरो, दंतेवाड़ा। Naxal Encounter in Dantewada छत्तीसगढ़ विधानसभा उपचुनाव में दहशत फैलाने के लिए सक्रिय नक्सलियों को मुंह की खानी पड़ी है। शुक्रवार की रात किरंदुल थाना क्षेत्र के कुटरेम और समलवार के बीच जंगल में हुई मुठभेड़ में पुलिस और डीआरजी की संयुक्त फोर्स ने एनआइए की सूची में 36वें और 40वें स्थान पर शामिल दो हार्ड कोर नक्सलियों को मार गिराया। दोनों पांच-पांच लाख रुपये के इनामी हैं। इसके अलावा विधायक भीमा मंडावी की हत्या में भी शामिल थे।

उधर, शनिवार की सुबह बीजापुर जिले के आवापल्ली थाना क्षेत्र के पुन्नूर की पहाड़ी पर हुई मुठभेड़ में जवानों ने एक लाख के इनामी नक्सली को मार गिराया है। वहीं, सुकमा जिले में हुई एक अन्य मुठभेड़ में सुरक्षा बलों ने तीन नक्सलियों को ढेर किया।

जवाबी कार्रवाई में मारे गए नक्‍सली
दंतेवाड़ा एसपी डॉ. अभिषेक पल्लव ने बताया कि उपचुनाव को लेकर फोर्स ने सर्चिग तेज की है। कुटरेम और समलवार के बीच जंगल में नक्सलियों की मौजूदगी की खबर थी। शुक्रवार रात करीब साढ़े 11 बजे सर्चिग पर निकले जवान जैसे ही इलाके में पहुंचे, घात लगाए बैठे नक्सलियों ने फायरिंग शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई में दो नक्सली मारे गए। इनकी शिनाख्त मलांगिर एरिया कमेटी सदस्य पोदिया उइका और एरिया कमेटी सदस्य लच्छू मीडियामी निवासी गुमियापाल के रूप में हुई है। एसपी ने बताया कि मारे गए नक्सली भीमा मंडावी की हत्या सहित दो दर्जन से अधिक अपराधों में शामिल थे। शव के पास से इटली निर्मित नाइन एमएम पिस्टल, 12 बोर की बंदूक और कारतूस आदि बरामद किए हैं।

नहीं हुई शिनाख्त
बीजापुर जिले के आवापल्ली थाना पुलिस, डीआरजी जवानों और एक नक्सली के बीच शनिवार सुबह पुन्नूर की पहाड़ी पर हुई मुठभेड़ में मारे गए नक्सली की शिनाख्त नहीं हो पाई है। उसके पास से 315 बोर की बंदूक बरामद की गई है। सुकमा के बुरकापाल मुकरम के जंगल में शनिवार को हुई मुठभेड में तीन नक्सली मारे गए। पुलिस के अनुसार मारे गए नक्सली सड़क काटने के इरादे से निकले थे। इसका पता लगते ही डीआरजी के जवानों ने नक्सलियों का पीछा कर उन्हें ढेर कर दिया।

 

Posted By: Krishna Bihari Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप