क्या आपको शरीर पर टैटू गुदवाना पसंद है? तो सावधान हो जाएं। यह आपके मानसिक स्वास्थ्य के लिए खतरनाक हो सकता है। एक अध्ययन में आगाह किया गया है कि टैटू मानसिक समस्या और नींद संबंधी विकार का कारण बन सकता है।

अमेरिका की मियामी यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं के अनुसार, टैटू का हालांकि समस्त स्वास्थ्य से कोई उल्लेखनीय संबंध नहीं पाया गया है। लेकिन टैटू बनवाने वाले लोगों में मानसिक और नींद संबंधी समस्या होने की आशंका रहती है। यह निष्कर्ष 2,008 लोगों पर किए गए अध्ययन के आधार पर निकाला गया है। मियामी की प्रोफेसर कैरोलिन मोर्टेसन ने कहा, 'पूर्व में किए गए एक शोध से टैटू और खतरे वाले बर्ताव के बीच संबंध स्थापित किया गया था। अब नए दौर में जब महिलाओं और पेशेवरों में भी टैटू की लोकप्रियता बढ़ रही है तो हमने भी इस तरह के संबंधों का पता लगाया है।' 

सोते समय हिलने-डुलने से अच्छी हो सकती है नींद और स्मृति

शोधकर्ताओं का कहना है कि सोते समय हिलना-डुलना नींद के लिहाज से अच्छा हो सकता है। इस गतिविधि से ना सिर्फ नींद बेहतर हो सकती है, बल्कि आपकी स्मृति को भी सहारा मिल सकता है। नींद पर किए गए इस अध्ययन के आधार पर यह साबित किया गया है कि सोने के दौरान हिलने-डुलने का कितना व्यापक फायदा हो सकता है।

स्विट्जरलैंड की जेनेवा यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं के अनुसार, अध्ययन में सोने के दौरान हिलने-डुलने का नींद और इससे जुड़ी मस्तिष्क तरंगों पर पड़ने वाले प्रभाव पर गौर किया गया। इस प्रभाव को आंकने के लिए प्रयोगशाला में 18 वयस्कों की नींद पर नजर रखी गई। जेनेवा यूनिवर्सिटी के शोधकर्ता लॉरेंस बायेर ने कहा, 'हमारे वालंटियर हिलने-डुलने पर ज्यादा जल्दी सो गए और उनमें लंबी अवधि तक गहरी नींद पाई गई। इसलिए हम यह जाहिर कर सकते हैं कि नींद के लिए हिलना-डुलना अच्छा होता है।' 

Posted By: Tanisk

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप