नई दिल्ली, पीटीआई। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा को मजबूत करना हमारी पहली प्राथमिकता है। रक्षा उत्पाद में हमारी सरकार का जोर मेक इन इंडिया पर है। वे शनिवार को रक्षा लेखा विभाग (डिफेंस अकाउंट्स डिपार्टमेंट-डीएडी) के 275वें सालाना समारोह को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान रक्षामंत्री ने कई डिजिटल सेवाओं को लांच किया।

रक्षा मंत्रालय को 5.25 लाख करोड़ रुपये आवंटन

इनमें पेंशन के लिए मोबाइल एप स्पर्श, अग्निवीरों के लिए वेतन प्रणाली, अंतरराष्ट्रीय हवाई टिकट बुकिंग के लिए डिफेंस ट्रैवल सिस्टम (डीटीएस), रक्षा लेखा रसीदें और भुगतान प्रणाली (डीएआरपीएए), रक्षा नागरिक वेतन प्रणाली और रक्षा लेखा मानव संसाधन प्रबंधन प्रणाली आदि शामिल हैं।

रक्षा मंत्री ने कहा कि 2022-23 में रक्षा मंत्रालय को कुल 5.25 लाख करोड़ रुपये का आवंटन सरकार के सुरक्षा मजबूत करने के संकल्प को दर्शाता है। इसमें डीएडी एक महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। डिजिटल इंडिया दृष्टिकोण को आगे बढ़ाने के लिए उन्होंने डीएडी की सराहना की और कहा कि इस नई पहल से विभाग के कामकाज में और पारदर्शिता व दक्षता आएगी।

Video: Defence Minister Rajnath Singh ने Army को सौंपे Made in India Nipun, F-INSAS & LCA की जानें खासियत

राजनाथ ने कहा कि स्पर्श मोबाइल एप पेंशन भोगियों की मोबाइल के माध्यम से महत्वपूर्ण सेवाओं तक पहुंच सुनिश्चित करेगा। यह एक ऐतिहासिक कदम है। उन्होंने कहा कि सरकार का प्रयास है कि सेवारत कर्मियों, पूर्व सैनिकों और उनके परिवारों को सैनिकों के जीवनकाल के साथ-साथ मृत्यु के बाद भी सर्वोत्तम सेवाएं प्रदान की जाएं।

देश की रक्षा करने वाले कर्मियों और उनके आश्रितों को कोई परेशानी न झेलनी पड़े। राजनाथ सिंह ने प्रमुख विभाग परियोजनाओं को लागू करने में बेहतर प्रदर्शन करने के लिए तीन टीमों को रक्षा मंत्री पुरस्कार 2022 भी प्रदान किए।

ये भी पढ़े: इंदौर, सूरत और नवी मुंबई को मिला भारत के शीर्ष 3 सबसे स्वच्छ शहरों का पुरस्कार, ये शहर भी है लिस्ट में शामिल

IAF: वायुसेना की Eastern Command के प्रमुख बने एयर मार्शल एस पी धारकर, एयर मार्शल डीके पटनायक की ली जगह

Edited By: Shashank Mishra

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट