नई दिल्‍ली, एजेंसियां। देश में कोविड-19 रोधी वैक्‍सीन कोविशील्ड के निर्माता सीरम इंस्टीट्यूट आफ इंडिया के सीईओ अदार पूनावाला का कहना है कि कोरोना महामारी पर काबू पाने में अब वैक्सीन लगवाने से हिचकिचाहट ही सबसे बड़ा खतरा है। पूनावाला ने कहा कि वैक्सीन उद्योग ने राष्ट्र के लिए कोविड रोधी वैक्‍सीन का पर्याप्त स्‍टाक उपलब्ध कराने के लिए अथक कोशिशें की हैं। मौजूदा वक्‍त में राज्यों के पास 20 करोड़ से अधिक खुराक उपलब्ध हैं। मैं सभी वयस्कों से जल्द से जल्द टीका लगवाने की गुजारिश करता हूं।  

इस बीच देश में कोरोना रोधी वैक्सीन की दोनों डोज लेने वालों यानी पूर्ण टीकाकरण वाले लोगों की संख्या केवल पहली डोज लेने वालों से पार कर गई है। बुधवार को यह जानकारी देते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने कहा कि ऐसा पहली बार हुआ है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की 'जन भागीदारी' और 'संपूर्ण सरकारी दृष्टिकोण' की दूरदृष्टि, सरकार में लोगों का विश्र्वास और 'हर घर दस्तक' अभियान के कारण यह उपलब्धि मिली है।

मांडविया ने एक बयान में कहा, 'देशव्यापी टीकाकरण कवरेज में महत्वपूर्ण उपलब्धि हासिल करते हुए पहली बार पूरी तरह टीके की डोज ले चुके लोगों की संख्या उन लोगों के पार चली गई है जिन्होंने टीके की केवल एकडोज ली है।'

बुधवार सुबह सात बजे तक मिली रिपोर्ट के अनुसार, देश में कुल 113.68 करोड़ डोज दी जा चुकी है। इसे 1,16,73,459 टीकाकरण सत्र के जरिए हासिल किया जा सका है। इनमें 75.57 करोड़ पहली डोज और और 38.11 करोड़ दूसरी डोज शामिल हैं। चूंकि पहली डोज लेने वाले 75.57 करोड़ लोगों में से 38.11 करोड़ लोगों दो दूसरी डोज लगाई गई है, इसलिए अब सिर्फ पहली डोज लेने वालों की संख्या 37.45 करोड़ रह गई है जो दोनों डोज लेने वालों से कम है।

स्वास्थ्य मंत्री ने ट्वीट कर सभी पात्र नागरिकों से टीका लगवाने की अपील की। उन्होंने कहा, 'हम एक साथ मिलकर कोरोना के खिलाफ लड़ाई जीतेंगे।' उन्होंने यह भरोसा भी जताया कि 'हर घर दस्तक' अभियान के तहत इस महीने तक भारत हर पात्र नागरिकों को टीका लगा देगा।

Edited By: Krishna Bihari Singh