नई दिल्ली, जागरण न्यूज नेटवर्क। जदयू के पूर्व नेता साबिर अली ने भाजपा नेता मुख्तार अब्बास नकवी के खिलाफ दायर मानहानि केस वापस ले लिया है। उन्होंने बुधवार को नकवी के घर जाकर उनसे मुलाकात की और फिर दोनों ने गिले शिकवे दूर किए। मोदी सरकार की ताजपोशी के बाद सामने आए इस ताजा घटनाक्रम के बाद माना जा रहा है कि साबिर अली देर सबेर भाजपा में आ सकते हैं।

लोकसभा चुनाव के ऐन पहले जदयू छोड़कर आने वाले साबिर अली को भाजपा में शामिल किए जाने पर मुख्तार अब्बास नकवी भड़क गए थे। उन्होंने साबिर को आइएम के आतंकी यासीन भटकल का मददगार बताते हुए कटाक्ष किया था कि अब शायद दाऊद के भाजपा में शामिल होने का नंबर है। नकवी और बिहार भाजपा के अन्य नेताओं की नाराजगी के चलते साबिर अली की भाजपा की सदस्यता को रद कर दिया गया था। इससे नाराज होकर साबिर अली ने मुख्तार के खिलाफ मानहानि का मामला दायर किया था और उनकी पत्नी ने उनके घर के बाहर धरना देने की कोशिश की थी। नकवी से मुलाकात के बाद साबिर अली ने वह भी उनके घर आए थे। हम दोनों में हमेशा बातचीत होती रही है।

पढ़े: नकवी के घर धरने पर बैठीं साबिर की पत्नी हटाई गई

भाजपा के लिए बड़ी मुसीबत बन सकते थे साबिर