नई दिल्ली, एएनआइ। रसायन व उर्वरक राज्य मंत्री मनसुख मंडाविया ( Mansukh Mandaviya) ने शनिवार को जानकारी दी। रेमडेसिविर (Remdesivir) का उत्पादन दस गुना अधिक हो गया है। प्रतिदिन 33,000 वायल (vials) का उत्पादन होता था वो अब एक दिन में 3,50,000 वायल हो गया है। अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल के जरिए मंडाविया ने बताया कि रेमडेसिविर का उत्पादन करने वाले प्लांट की संख्या भी एक महीने के भीतर 20 से बढ़ाकर 60 कर दी गई है। 

इससे पहले केंद्रीय मंत्री ने ब्लैक फंगस के उपचार में इस्तेमाल की जाने वाली दवा एम्फोटेरिसिन-बी की 50 हजार से अधिक शीशियां विदेश से भारत लाए जाने की जानकारी शुक्रवार को दी। एम्फोटेरिसिन-बी का इस्तेमाल ब्लैक फंगस (म्यूकरमाइकोसिस) बीमारी के इलाज के लिए किया जाता है। इस बारे में भी उन्होंने ट्वीट कर जानकारी दी थी। उन्होंने बताया, 'कोविड-19 से मुकाबले में भारत का सहयोग करने के लिए मैं गिलियड साइंसेज और मायलन को धन्यवाद देता हूं।' केंद्रीय रसायन एवं उर्वरक मंत्री डी वी सदानंद गौड़ा ने गुरुवार को घोषणा की थी कि सभी राज्यों, केंद्र शासित प्रदेशों और केंद्रीय संस्थानों को एम्फोटेरिसिन-बी की अतिरिक्त 80 हजार शीशियां आवंटित की गई हैं।

 केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार बीते 24 घंटों में कोरोना संक्रमण के 1,73,790 नए मामले सामने आए जो पिछले 45 दिनों में सबसे कम हैं और 3,617 लोगों की मौत हो गई। इसके अलावा संक्रमण से स्वस्थ हो डिस्चार्ज किए गए लोगों की कुल संख्या 2,84,601 है। इसके बाद देश में अब तक कुल पॉजिटिव मामलों की संख्या 2,77,29,247 है और मरने वालों का आंकड़ा 3,22,512 है। देश में सक्रिय मामलों की कुल संख्या 22,28,724 है।

Edited By: Monika Minal