नई दिल्ली (पीटीआई)। बलूचिस्तान के नेता मजदाक दिलशाद बलूच ने उनके हकों की आवाज उठाने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी की जमकर तारीफ की है। उन्होंने कहा है कि पीएम मोदी बलूच लोगों का दर्द समझते हैं। यह पिछले 70 वर्षों में पहली बार है जब किसी भारतीय प्रधानमंत्री ने बलूचिस्तान की आवाज बुलंद की हो। भारत के इस बाबत उठाए गए कदमों से संतुष्ट दिलशाद ने कहा कि पीएम मोदी ने 15 अगस्त के अवसर पर बलूचिस्तान की आवाज उठाकर उनकी लड़ाई को मजबूती प्रदान की हैै। पीएम ने इस मौके पर कहा कि वह पाकिस्तान द्वारा बलूचिस्तान में किए जा रहे दमन को वह पूरी दुनिया के सामने लाएंगे और इसको लेकर दुनिया का जागरुक करेंगे।

एक अन्य नेता तारिक फतह ने बलूच राष्ट्रीयता इस मौके पर कहा कि स्विटजरलैंड में निर्वासित जीवन जी रहे बलूच नेता ब्रह्मदाग बुगती ईलाज की वजह से भारत में हैं। उन्होंने भारत में शरण लेने के लिए आवदेन भी किया है। उन्होंने कहा कि बलूचिस्तान के सभी लोग सुषमा स्वराज के उस भाषण से भी काफी खुश हैं जो उन्होंने संयुक्त राष्ट्र महासभा में बीतेे 26 सितंबर को दिया था।

कश्मीर के बाद अब बलूच पर भी फंसा पाक, EU ने दी प्रतिबंध लगाने की धमकी

मजदाक ने इस अवसर पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की जमकर आलोचना की। उन्होंने कहा कि भारत की सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान लगातार इसको झूठा बताता आ रहा है। लेकिन यही लोग बलूचिस्तान पर पाकिस्तान खामोश है। इंडिया पॉलिसी फाउंडेशन के तत्वाधान में आयोजित इस कार्यक्रम भारत माता की जय और पाकिस्तान मुर्दाबाद के भी नारे लगे।

ये हैं सर्जिकल स्ट्राइक के नायक, जिनसे पाक है थर्राता, देखें तस्वीरें

बलूचिस्तान की आजादी के लिए पाक उच्चायोग के पास प्रदर्शन

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस