नई दिल्ली, एएनआई। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को तुर्किये और सीरिया में आए विनाशकारी भूकंप से हुई मौतों पर शोक व्यक्त किया। शोक व्यक्त करते समय पीएम मोदी काफी भावुक हो गए और गुजरात के भुज में 2001 में आए शक्तिशाली भूकंप को याद किया, जिसमें हजारों लोगों की जान चली गई थीं।

तुर्किये और सीरिया की स्थिति पर पीएम मोदी हुए भावुक

संसद के बजट सत्र की कार्यवाही से पहले भाजपा की संसदीय दल की बैठक बुलाई गई थी। बैठक को संबोधित करते हुए, पीएम मोदी काफी भावुक हो गए। पीएम मोदी ने गुजरात के भुज में आए विनाशकारी भूकंप को याद किया और उस समय चलाए गए राहत व बचाव कार्यों में उत्पन्न चुनौतियों पर प्रकाश डाला। बता दें कि भुज में जब शक्तिशाली भूकंप आया था, तब नरेन्द्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे।

तुर्किये और सीरिया में विनाशकारी भूकंप

पीएम मोदी ने सोमवार को तुर्किये और सीरिया में आए प्रलयकारी भूकंप के बाद भारत द्वारा भेजे गए मानवीय सहायता का उल्लेख किया। बता दें कि सोमवार को तुर्किये और सीरिया में 7.8 तीव्रता का भूकंप आया था, जिससे अब तक 4600 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी हैं और 10 हजार से अधिक लोग घायल हैं। ये आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है।

भुज में भूकंप से हजारों लोगों की हुई थीं मौत

पीएम मोदी ने कहा, 'मैं अच्छी तरह समझ सकता हूं कि इस वक्त तुर्किये के साथ क्या स्थिति उत्पन्न हो रही होगी।' बता दें कि वर्ष 2001 में गुजरात के भुज में आए विनाशकारी भूकंप से 20,000 से अधिक लोगों की मौत हुई थीं। इस तबाही में डेढ़ लाख से अधिक लोग घायल हुए थे। भूकंप ने हजारों लोगों को बेघर कर दिया था।

भारत ने तुर्किये को भेजा मानवीय सहायता

बता दें कि तुर्किये और सीरिया में सोमवार को आए भूकंप के शक्तिशाली झटकों के बाद भारत ने एनडीआरएफ की टीम तुर्किये भेजी है। विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि तुर्किये में खोज और बचाव के प्रयासों में सहायता के लिए आपदा राहत सामग्री और बचाव दल को लेकर भारतीय वायु सेना का पहला विमान आज भूकंप प्रभावित देश पहुंचा है।

यह भी पढ़ें: आईएआरसी का आकलन 2040 तक भारत समेत एशिया में 59% बढ़ेंगे कैंसर के नए मरीज, संतुलित भारतीय खाना कम करेगा खतरा

यह भी पढें: Fact Check: नेताजी सुभाषचंद्र बोस के करीबी निजामुद्दीन के पैर छूते पीएम मोदी की तस्वीर करीब नौ साल पुरानी है, 2021 की नहीं

Edited By: Devshanker Chovdhary