Move to Jagran APP

PM Modi Cabinet 2024: पहली बार लोकसभा चुनाव जीतने वाले Piyush Goyal की मोदी कैबिनेट में दोबारा एंट्री, ऐसा रहा राजनीतिक करियर

पीयूष गोयल ( Piyush Goyal ) रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मंत्रिमंडल में दोबारा शामिल होने वाले चुनिंदा मंत्रियों में से एक बने है । 60 वर्षीय गोयल ने रविवार को राष्ट्रपति भवन में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की नई केंद्रीय मंत्रिपरिषद में शपथ ली । गोयल ने 2024 के संसदीय चुनावों में मुंबई कांग्रेस के उपाध्यक्ष भूषण पाटिल को लगभग 3 57 608 मतों के अंतर से हराया था।

By Agency Edited By: Nidhi Avinash Published: Sun, 09 Jun 2024 09:31 PM (IST)Updated: Sun, 09 Jun 2024 09:31 PM (IST)
पहली बार लोकसभा चुनाव जीतने वाले Piyush Goyal (Image: ANI)

एएनआई, नई दिल्ली। PM Modi Cabinet 2024: पीयूष गोयल रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मंत्रिमंडल में दोबारा शामिल होने वाले चुनिंदा मंत्रियों में से एक बने है। पहली बार लोकसभा चुनाव लड़ने वाले गोयल 2014 और 2019 दोनों चुनावों में केंद्रीय मंत्री रहे। 60 वर्षीय गोयल ने रविवार को राष्ट्रपति भवन में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की नई केंद्रीय मंत्रिपरिषद में शपथ ली। 

इतने मतों से पहली बार जीता लोकसभा चुनाव

गोयल ने 2024 के संसदीय चुनावों में मुंबई कांग्रेस के उपाध्यक्ष भूषण पाटिल को लगभग 3,57,608 मतों के अंतर से हराया। 2024 लोकसभा चुनाव में मुंबई उत्तर निर्वाचन क्षेत्र से बड़े अंतर से जीतने वाले गोयल ने 2019 के केंद्रीय मंत्रिमंडल में शुरुआत में रेल मंत्रालय और वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय का कार्यभार संभाला था। बाद में उनसे रेल मंत्रालय वापस ले लिया गया और उन्हें खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण विभाग की अतिरिक्त जिम्मेदारी सौंपी गई।

पहले रेल मंत्री और फिर रहा ऐसा राजनीतिक सफर

इससे पहले वह रेल और कोयला मंत्री (2017-19) थे और उन्होंने 2018 और 2019 में दो बार वित्त और कॉर्पोरेट मामलों के मंत्री का अतिरिक्त प्रभार भी संभाला था। वह बिजली, कोयला, नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा (2014-2017) और खान (2016-17) के लिए राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) थे। 

2014 और 2019 के लोकसभा चुनावों में निभाई अहम भूमिका

अपने 35 साल के राजनीतिक करियर के दौरान गोयल ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में विभिन्न स्तरों पर कई महत्वपूर्ण पदों पर कार्य किया है। वे पार्टी के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष के रूप में भी कार्य कर चुके हैं। 2019 के भारतीय आम चुनावों में वे घोषणापत्र और प्रचार समितियों के सदस्य थे। उन्होंने 2014 के भारतीय आम चुनावों के लिए भाजपा की सूचना संचार अभियान समिति का भी नेतृत्व किया।

कैसा हैं एकेडमिक रिकॉर्ड?

बात करें गोयल का एकेडमिक रिकॉर्ड की तो वो भी काफी शानदार रहा है। वे अखिल भारतीय स्तर पर चार्टर्ड अकाउंटेंट के रूप में दूसरे स्थान पर रहे और मुंबई विश्वविद्यालय में कानून में दूसरे स्थान पर रहे। वे एक प्रसिद्ध निवेश बैंकर रहे और उन्होंने शीर्ष निगमों को प्रबंधन रणनीति और विकास पर सलाह दी है। उन्होंने भारत के सबसे बड़े वाणिज्यिक बैंक, भारतीय स्टेट बैंक और बैंक ऑफ बड़ौदा के बोर्ड में भी काम किया है।  

यह भी पढ़ें: PM Modi Cabinet 2024: 'हाईवे मैन ऑफ इंडिया' नितिन गडकरी का कैसा रहा राजनीतिक सफर? 1975 का आपातकाल है मुख्य कारण

यह भी पढ़ें: Lalan Singh : नीतीश के भरोसेमंद ललन सिंह को मोदी भी करते हैं पसंद, केंद्रीय कैबिनेट में मिली जगह


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.