नई दिल्‍ली, एजेंसी। देशभर में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने सोमवार को ईद-उल-जुहा के मौके पर मस्जिदों में नमाज पढ़ी और एक दूसरे को मुबारकबाद देकर खुशी का इजहार किया। नमाज के बाद सभी लोगों ने एक-दूसरे को गले लगाकर ईद की मुबारक बाद दी। केंद्रीय मंत्री मुख्‍तार अब्‍बास नकवी ने की कश्मीरी गेट स्थित पुंजा शरीफ दरगाह पर नमाज पढ़ी और मुल्‍क में अमन चैन की दुआ मांगी। वहीं जम्‍मू-कश्‍मीर में भी कड़ी सुरक्षा व्‍यवस्‍था के बीच ईद-उल-अज़हा का पर्व मनाया जा रहा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों को ईद-उल-अज़हा की शुभकामनाएं दी हैं। प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर कहा, 'ईद-उल-अज़हा के अवसर पर मेरी शुभकामनाएं। मुझे आशा है कि यह हमारे समाज में शांति और खुशहाली की भावना को मजबूती देगी। ईद मुबारक!'  

सूत्रों के मुताबिक, इस बार बकरीद के मौके पर अंतरराष्ट्रीय सीमा पर सीमा सुरक्षा बल (BSF) और पाकिस्तानी रेंजर्स के बीच मिठाइयों का आदान-प्रदान नहीं हुआ है। बीएसएफ पाकिस्तानी रेंजर्स को मिठाई देना चाहता था लेकिन उनकी तरफ से इस सिलसिले में कोई जवाब नहीं आया है। 

बकरीद के मौके पर फुलबारी सीमा पर भी हर्सोल्‍लास दिखाई दिया। सीमा सुरक्षा बल (BSF) के जवानों ने बांग्‍लादेश के जवानों को बकरीद की मुबारकबाद देते हुए मिठाइयां भेंट की। इसके बाद बीजीबी (Border Guards Bangladesh, BGB)के जवानों ने भी भारतीय जवानों को मिठाइयां और शुभकामनाएं दी। 

इस बीच, खुफिया एजेंसियों की ओर से आतंकी हमले का अलर्ट जारी किया गया है। यह भी आशंका जताई गई है कि जम्‍मू-कश्‍मीर में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी माहौल खराब करने की कोशिश कर सकते हैं। ऐसे में सुरक्षाबलों के लिए शांति बनाए रखना और आम लोगों को महफूज रखना बड़ी चुनौती है। हालांकि, जम्‍मू-कश्‍मीर में लोगों को कई परेशानी नहीं हो इसके लिए प्रशासन ने खास इंतजाम किए हैं। 

देश के विभिन्‍न हिस्‍सों हिस्‍सों में लोग बड़ी संख्‍या में मस्जिदों में जमा हुए और नमाज पढ़ी। जम्‍मू-कश्‍मीर से भी किसी बड़ी अप्रिय घटना के समाचार नहीं है। अधिकारियों ने बताया कि श्रीनगर में छह मंडी बाजार बनाए गए हैं और लोगों के लिए 2.5 लाख भेड़ें उपलब्ध कराई गई हैं। यहां तक कि घरों तक सब्जियां, गैस सिलेंडर जैसी जरूरत की चीजें पहुंचाने के लिए गाड़ियों का इंतजाम किया गया है। 

मुंबई में हमीदिया मस्जिद के बाहर तो... भोपाल की ईदगाह मस्जिद में लोगों ने नमाज पढ़ी। दूसरी ओर जम्मू में हालात तेजी से सामान्य हो रहे हैं। राज्‍य के पांच जिलों से निषेधाज्ञा पूरी तरह हटा ली गई है जबकि अन्य पांच जिलों में प्रतिबंधों में छूट दी गई है।

श्रीनगर के विभिन्‍न इलाकों में भी लोगों ने मस्जिदों में नमाज पढ़ी और एकदूसरे को बकरीद की मुबारकबाद दी। पूरा कार्यक्रम बेहद शांतिपूर्ण तरीके से संपन्‍न हुआ। श्रीनगर के उपायुक्त शाहिद इकबाल चौधरी ने बताया कि हालात शांतिपूर्ण हैं। जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल के निर्देश पर 300 विशेष टेलिफोन बूथ भी लगाए गए हैं ताकि लोग एकदूसरे को मुबारक बाद दे सकें।  

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल कश्मीर में डटे हुए हैं। उन्होंने ग्राउंड मैनेजमेंट संभाली हुई है। डोभाल लोगों को यकीन दिला रहे हैं कि जो हो रहा है वह आपकी भलाई के लिए ही है। पुलिस महानिदेशक दलबाग सिंह ने कहा कि घाटी में हालात सामान्य हैं। कुछ चुनिंदा जगहों पर कर्फ्यू में ढील दी गई है। उन्होंने लोगों से अफवाहों पर विश्वास न करने को कहा है। 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Krishna Bihari Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप