नई दिल्‍ली (आनलाइन डेस्‍क)। दुनिया में सभी देशों की अर्थव्‍यवस्‍था को अधिकतर डालर पर आंका जाता है। भले ही बात करें विदेशी मुद्रा भंडार की तो इसकी भी जानकारी डालर में सामने आती है। इस लिहाज से डालर की अहमियत दूसरी मुद्राओं से कहीं अधिक है। हालांकि, दुनिया की सबसे महंगी मुद्रा डालर नहीं है। इसके बावजूद ये एक बड़ी सच्‍चाई है कि डालर का विभिन्‍न देशों की मुदाओं के मुकाबले नीचे गिरना या उठना उन देशों की अर्थव्‍यवस्‍था पर गहरा प्रभाव डालता है। अब यदि बात करें भारत और भारत के पड़ोसी देशों की तो इसमें सबसे मजबूत भारत है।

भारत के पड़ोसी पाकिस्‍तान की बात करें तो वहां पर एक यूएस डालर की कीमत 207 पाकिस्‍तानी रुपया है। आपको बता दें कि पाकिस्‍तान की मुद्रा लगातार यूएस डालर के मुकाबले नीचे गिर रही है। इसकी वजह से देश की आर्थिक हालत भी लगातार खराब हो रही है। अब यदि बात करें भारत के दूसरे पड़ोसी देश नेपाल की तो वहां पर एक यूएस डालर की कीमत 127.127.02 नेपाली रुपया है। श्रीलंका की आर्थिक स्थिति के बारे में हर कोई बखूबी वाकिफ है। दिवालिया हो रहे इस देश में एक यूएस डालर की कीमत 357.25 श्रीलंकाई रुपया है।

म्‍यांमार की बात करें तो यहां पर डालर की कीमत भारत के पड़ोसी देशों में सबसे अधिक है। यहां पर एक यूएस डालर 1890.52 म्‍यांमार क्‍यात है। इसी तरह चीन में एक यूएस डालर की कीमत 6.70 चीनी युआन है। वहीं भारत में यूएस डालर की कीमत 79.02 रुपया है। इसी तरह से बांग्‍लादेश में एक यूएस डालर की कीमत 93.52 टका है। 

ये ताजा आंकड़े इन देशों की आर्थिक स्थिति को बयान कर रहे हैं। भारत के पड़ोस में स्थित म्‍यांमार में लोकतांत्रिक सरकार का तख्‍ता पलट कर वहां पर सैन्‍य सरकार बनाने के बाद हालात काफी खराब हुए हैं। इसी तरह से श्रीलंका का भी हाल है और ऐसा ही हाल पाकिस्‍तान का भी है। इन तीनों ही देशों में इसको लेकर काफी कुछ समानता है।

Edited By: Kamal Verma