नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जान से मारने की धमकी दी गई है। धमकी मेल के जरिये दी गई है। यह मेल दिल्ली पुलिस आयुक्त के पास आया तो विभाग में हड़कंप मच गया। इसी के साथ दिल्ली पुलिस सहित सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट कर दी गई। प्रधानमंत्री की सुरक्षा में लगे गार्डों की संख्या बढ़ा दी गई है। हालांकि, दिल्ली पुलिस के अधिकारी इस मुद्दे पर आधिकारिक रूप से कुछ भी बोलने से इन्कार कर रहे हैं।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक, दिल्ली पुलिस आयुक्त (सीपी) के पास गत दिनों एक मेल आया था। सीपी की ऑफिसियल आइडी पर आए ई-मेल में लिखा है कि सन 2019 में चुनाव के दौरान प्रधानमंत्री की हत्या कर दी जाएगी। एक लाइन के संक्षिप्त मेल में कुछ और नहीं लिखा है।

मेल के बारे में जानकारी मिलते ही पुलिस अधिकारी सकते में आ गए। बाद में खुफिया एजेंसियों को सतर्क करने के साथ ही प्रधानमंत्री की सुरक्षा में लगे अधिकारियों से जानकारी साझा की गई। सूत्र बताते हैं कि पीएम की सुरक्षा की समीक्षा भी की गई है।

इसके बाद की गई जांच में यह पता चला है कि मेल भेजने वाला व्यक्ति संभवत असम का रहने वाला है। हालांकि, उसकी पहचान अभी तक नहीं हो पाई है। यह भी साफ नहीं हो पाया है कि धमकी भरा मेल भेजने के पीछे उसका मकसद क्या है।

उधर, इस संबंध में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल सहित अन्य एजेंसियां जांच में जुट गई हैं। उत्तर-पूर्व राज्यों के पुलिस अधिकारियों को मामले की तफ्तीश करने को कहा गया है।

गौरतलब है कि इससे पहले भीमा कोरेगांव हिंसा मामले में पांच संदिग्धों की गिरफ्तारी के बाद नक्सलियों की ओर से पीएम मोदी की हत्या की साजिश रचे जाने का सनसनीखेज खुलासा हुआ था। नक्सलियों के संपर्क में रहने के आरोप में दिल्ली से गिरफ्तार किए गए रोना जैकब विल्सन के पास से मिली चिट्ठी से साजिश का खुलासा हुआ था। हालांकि यह पहली बार नहीं है कि किसी ने पीएम मोदी को जान से मारने की धमकी दी हो। लगातार मिल रही धमकियों के मद्देनजर इससे पहले 2014 में मोदी के पीएम बनते ही उनकी सुरक्षा व्‍यवस्‍था को काफी मजबूत कर दिया गया है।

1000 कमांडो करते हैं पीएम मोदी की सुरक्षा 
बताया जाता है कि धमकियों के चलते ही पीएम बनने के बाद नरेंद्र मोदी की सुरक्षा घेरा को लगभग अचूक बना दिया गया है। पीएम मोदी जहां भी जाते हैं, वहां जमीन से लेकर आसमान तक चप्पे-चप्पे पर नजर रखी जाती है। मोदी की सिक्युरिटी मनमोहन सिंह की तुलना में तकरीबन दोगुनी है।उनकी सुरक्षा में विभिन्न घेरों के तहत एक हजार से ज्यादा कमांडो तैनात रहते हैं।

देश के किसी भी हिस्से में राजनीतिक या अन्य दौरों और कार्यक्रमों के दौरान एसपीजी के जवान तैनात रहते हैं। इससे पहले मोदी के काफिले में चलने वाली कारों की एसपीजी अच्छी तरह जांच करती है। बता दें कि पीएम मोदी के काफिले में एक जैमर से लैस गाड़ी रहती है, जिसमें दो एंटिना फिट रहते हैं। ये सड़क के दोनों तरफ 100 मीटर की दूरी तक रखे बिस्फोटक को निष्क्रिय कर सकते हैं।

यह भी पढ़ेंः सावधान! दिल्ली-NCR के 2.5 करोड़ से अधिक लोगों के लिए आ रहा 'खामोश खतरा'

यह भी पढ़ेंः मुश्किल में केजरीवाल के मंत्री कैलाश गहलोत, इनकम टैक्स छापे में मिले गोपनीय दस्तावेज

यह भी पढ़ेंः VIDEO: 'सीता के पिता' बने मोदी के मंत्री, जानें- कितने और राजनेता बनेंगे अभिनेता