नई दिल्ली [जागरण स्पेशल]। पिछले कुछ सालों के दौरान कई मोर्चों पर दुनियाभर में झंडा बुलंद करने वाले भारत के हैदराबाद शहर में महिला डॉक्टर के साथ हुई हैवानियत ने एक बार फिर पूरे इंसानी समाज को शर्मसार किया है। दरअसल, तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में बृहस्पतिवार रात को 27 वर्षीय महिला डॉक्टर की सामूहिक दुष्कर्म के बाद हत्या ने देश भर के जनमानस को हिलाकर रख दिया है। इससे पहले 16 दिसंबर, 2012 को भी दिल्ली के निर्भया कांड ने देश के साथ दुनिया भर में भूचाल ला दिया था। आइये जानते हैं देश के कुछ दुष्कर्म-हत्याकांड जो देश-दुनिया में भी सुर्खियों में रहे।

2012, निर्भया केस

16 दिसंबर, 2012 की रात को हुए इस सामूहिक दुष्कर्म कांड ने देश के लोगों को झकझोर कर रख दिया था। घटनाक्रम के मुताबिक, 16 दिसंबर की रात को निर्भया अपने साथी के साथ घर जा रही थी। घर जाने के क्रम में वह एक निजी बस DL 1PC 0149 में सवार हुई। कुछ दूर चलने पर बस ड्राइवर समेत छह लोगों ने निर्भया के साथ चलती बस में दरिंदगी की। सामूहिक दुष्कर्म के बाद निर्भया 13 दिनों तक अस्पताल में जीवन और मौत के बीच जूझती रही। ...और फिर सिंगापुर के एक अस्पताल में इलाज के दौरान उसने दम तोड़ दिया। इस क्रूर और दिल दहला देने वाली घटना से लोग इस कदर नाराज हुए कि उन्होंने इंडिया गेट पर जमकर प्रदर्शन किया। देशभर में प्रदर्शनों को दौर देख तत्कालीन केंद्र सरकार ने कुछ महीनों बाद कानून में बड़ा बदलाव किया। इसके कुछ महीने बाद महिला सुरक्षा कानून में बड़ा बदलाव तो हुआ, लेकिन हालात में ज्यादा बदलाव नहीं है। इसी का नतीजा है- हैदराबाद दुष्कर्म और हत्या केस।

प्रियदर्शिनी मट्टू दुष्कर्म कांड

दिल्ली विश्वविद्यालय में अध्ययनरत लॉ की छात्रा प्रियदर्शिनी मट्टू (25) की जनवरी, 1996 में दुष्कर्म के बाद हत्या कर दी गई थी। हत्या और दुष्कर्म का आरोप दिल्ली विश्वविद्यालय में कानून के छात्र संतोष कुमार सिंह पर लगा था। संतोष आइपीएस ऑफिसर का बेटा है और फिलहाल वह इस मामले में दिल्ली की तिहाड़ जेल में उम्रकैद की सजा काट रहा है। इस दुष्कर्म और हत्याकांड ने देश भर में उबाल ला दिया था। यह हत्याकांड इसलिए भी ज्यादा चर्चा में रहा कि क्योंकि यह  हाईप्रोफाइल मामला बन गया था।

राजस्थान का भंवरी देवी हत्याकांड

राजस्थान में 27 बरस पहले एक पिछडी जाति की महिला भंवरी देवी के साथ सामूहिक दुष्कर्म हुआ था। हैरानी की बात तो यह है कि निचली अदालत ने सभी आरोपितों को बरी कर दिया था। यह मामला अब भी कोर्ट में चल रहा है। इस बीच दो आरोपितों को मौत हो चुकी है। 60 साल के करीब पहुंच चुकी भंवरी की इंसाफ की लड़ाई जारी है। भंवरी देवी के साथ यह दरिंदगी 22 सितंबर, 1992 को हुई थी। उस दौरान उनके पति को बंधक बनाकर दबंग जाति के लोगों ने भंवरी के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया था।

जेसिका लाल हत्याकांड

90 के दशक जेसिका लाल हत्या सबसे ज्यादा चर्चा में रही। दरअसल, दिल्ली के महरौली इलाके में एक रेस्तरां में 30 अप्रैल, 1999 को शराब परोसने से मना करने पर पूर्व केंद्रीय मंत्री विनोद शर्मा के बेटे मनु शर्मा ने जेसिका लाल को गोली मारकर हत्या कर दी थी। यह मामला काफी चर्चा में रहा था। इस पर फिल्म भी बनी थी, जिसका नाम था 'No One Killed Jessica'।

लखनऊ दुष्कर्म व हत्या मामला

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के मोहनलालगंज के बलसिंह खेड़ा प्राइमरी स्कूल में 17 जुलाई, 2014 को एक महिला की अर्धनग्न लाश बरामद हुई थी। जांच के दौरान महिला के साथ दुष्कर्म के बाद उसकी हत्या की बात सामने आई थी। पुलिस ने इस वारदात में आरोपित रामसेवक यादव को शामिल होना पाया। इस दुष्कर्म और हत्याकांड ने तत्कालीन समाजवादी पार्टी को परेशान कर दिया था।

2013, मुंबई दुष्कर्म मामला

जहां एक दिल्ली में निर्भया केस का मामला अभी थमा भी नहीं था कि महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई के शक्ति मिल परिसर में 31 जुलाई, 2013 को एक 19 साल की कॉलसेंटर युवती के साथ पांच लोगों ने सामूहिक दुष्कर्म की घटना अंजाम देकर देशभर को परेशान कर दिया था।

यहां पर बता दें कि देशभर में 30 जून, 2019 तक बाल दुष्कर्म के 1,50,332 मामले लंबित थे। ऐसे में अंदाजा लगाया जा सकता है कि किस तरह लोगों को इंसाफ मिलता होगा। 

दिल्ली-एनसीआर की ताजा खबरों को पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस