नई दिल्ली। आगामी लोकसभा चुनावों को लेकर सर्वे एजेंसियां काफी सक्रिय हो गई हैं। हाल ही में किए गए एबीपी न्यूज और नील्सन के ताजा सर्वे के अनुसार उत्तर प्रदेश और बिहार दोनों ही प्रदेशों में भाजपा को बढ़त मिल रही है। एजेंसियों का कहना है कि यह मोदी के जादू का असर है।

सर्वे के मुताबिक अगर इस समय चुनाव हो जाए तो बिहार में सत्ताधारी पार्टी जदयू को काफी नुकसान उठाना पड़ सकता है। ऐसे में यह बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के लिए अच्छी खबर नहीं है। जबकि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) राज्य की कुल 40 सीटों में से 24 सीटों पर कब्जा जमा सकती है। यानी भाजपा को 12 सीटों का फायदा हो सकता है।

अगर सर्वे पर भरोसा किया जाए तो सत्ताधारी पार्टी को मात्र छह सीटें ही मिलेंगी। जबकि लालू प्रसाद यादव की पार्टी राजद इस चुनाव के साथ बिहार की सियासत में दमदार मौजूदगी दिखा सकती है। राजद को पांच सीटें मिल सकती हैं यानी उसे एक सीट का फायदा हो सकता है। वहीं, लोजपा को भी एक सीट मिल सकती है। कांग्रेस को दो सीटें मिल सकती हैं। सर्वेक्षण में कुल 4,518 लोगों की राय को शामिल किया गया है।

पढ़ें: विधान सभा चुनाव परिणाम: कौन रहा हावी, मोदी या मुद्दे?

जब लोगों से सवाल किया गया कि क्या भाजपा से नाता तोड़कर नीतीश कुमार की पार्टी जदयू ने गलती की है तो करीब तीन चौथाई 72 फीसदी लोगों का कहना था कि हां, गलती की है। सिर्फ 26 फीसदी लोगों ने नीतीश के कदम को सही बताया।

जब लोगों से सवाल किया गया कि अब मुसलमान किस पार्टी को वोट देंगे तो 53 फीसदी की राय थी कि मुसलमान राजद को वोट करेंगे। जबकि 41 फीसदी का मानना था कि मुसलमान जदयू को वोट करेंगे। जब लोगों से सवाल किया गया कि लोकसभा चुनाव में कौन सी पार्टी सबसे ज्यादा सीट जीतेगी तो 59 फीसदी लोगों का मानना था कि भाजपा।

पढ़ें: मोदी के निशाने पर यूपी के सियासी समीकरण

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस