नई दिल्ली, एएनआइ। सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक ने मणिपुर के एक 22 वर्षीय इंजीनियर को बग का पता लगाने के लिए 'हाल ऑफ फेम' में शामिल कर सम्मानित किया। इस युवक का नाम जोनल सौगैजम है। इस बग से यूजर्स के गोपनियता का उल्लंघन किया जा सकता था। जोनल ने बताया कि उसे एक फोनकॉल के दौरान इस बग के बारे में पता चला। इसके बाद उसने इसकी जानकारी फेसबुक को दी।   

जोनल ने कहा कि फेसबुक ने उन्हें इस बग का पता लगाने के लिए 5,000 यूएस डॉलर (लगभग 3.4 लाख रुपये) से सम्मानित किया। इसके लिए उन्हें 'फेसबुक हॉल ऑफ फेम 2019' में भी शामिल किया गया है। इस साल के 'फेसबुक हॉल ऑफ फेम' में शामिल होने वाले वे 16 वें इंसान हैं। इस सूची में अब-तक 94 लोगों का नाम शामिल है। सौगैजम ने कहा कि उनका इस सूची में होना गर्व की बात है।

सौगैजम ने मार्च में अपने बग बाउंटी प्रोग्राम के माध्यम से फेसबुक को इस बग की सूचना दी थी जो फेसबुक और इसकी अन्य कंपनियों पर यूजर्स के गोपनियता को लेकर काम करता है। उन्होंने कहा कि उनकी रिपोर्ट को अगले दिन ही फेसबुक टीम ने स्वीकार कर लिया और फिर तकनीकी विभाग ने 15 से 20 दिनों के भीतर बग को ठीक कर दिया। सौगाइजम ने बताया कि उन्हें भेजे गए एक ई-मेल में फेसबुक ने कहा, 'इस मुद्दे की समीक्षा करने के बाद, हमने आपको $ 5,000 का इनाम देने का फैसला किया है। इसके बाद उन्हें इसी महीने फेसबुक के हॉल ऑफ फेम में शामिल किया।

बता दें कि फेसबुक ने 2012 में इंस्टाग्राम और 2014 में व्हाट्सएप का अधिग्रहण किया था। कंपनी पिछले कुछ वर्षों से यूजर्स की गोपनियता को लेकर लगातार सवालों के घेरे में है।  

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Edited By: Tanisk