नई दिल्ली, एजेंसी। बंगाल की खाड़ी से शुरू हुआ मंडौस चक्रवात (Cyclone Mandous) तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश और पुडुचेरी की ओर बढ़ रहा है। तूफान की वजह से इन राज्यों में भारी बारिश, बिजली और तेज हवा की आशंका जताई जा रही है। खतरे की आशंका के मद्देनजर NDRF, नेवी और अन्य संस्थाओं को तैयार रहने के लिए कहा गया है।

समाचार एजेंसी एएनआइ के मुताबिक, चक्रवात मंडौस को लेकर तैयारी के बारे में जानकारी देते हुए एनडीआरएफ अराक्कोनम, 4 बटालियन, के सब- इंस्पेक्टर और कमांडर संदीप कुमार ने बताया कि हमारी टीम हर तरह के उपकरणों के साथ तैयार है। हमारी टीम के सदस्यों को उनके क्षेत्रों में प्रशिक्षित किया जाता है। जब भी हमें मदद के लिए फोन आएगा, हम तुरंत मौके पर पहुंचेंगे।

(फोटो सोर्स: एएनआइ)

तमिलनाडु के 12 जिलों में जारी किया गया ऑरेंज अलर्ट 

8 और 9 दिसंबर को तमिलनाडु के चेन्नई समेत तमाम तटीय इलाकों में भारी बारिश और तेज हवाएं चलने के आसार हैं। मौसम विभाग ने तमिलनाडु में 8 दिसंबर के लिए 13 जिलों में रेड अलर्ट औ 9 दिसंबर के लिए 12 जिलों में ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। नेशनल क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी के कैबिनेट सेक्रेटरी राजीव गॉबा ने तैयारियों की समीक्षा के बाद उन्होंने कहा कि हमारी कोशिश है कि चक्रवात की वजह से माल-जान का नुकसान कम से कम हो। मंडौस तूफान का नाम संयुक्त अरब अमीरात (UAE) की ओर से दिया गया है. हिंदी में इसका अर्थ 'खजाना' है।

Edited By: Piyush Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट