मुंबई, पीटीआई। महाराष्ट्र की महिला एवं बाल विकास मंत्री पंकजा मुंडे एक बार फिर विवादों में है। आम आदमी पार्टी की नेता प्रीति शर्मा ने पंकजा मुंडे पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए हैँ। आप नेता के मुताबिक, पंकजा ने अपने पद का दुरुपयोग करते हुए ब्लैक लिस्टेड कंपनियों को टेंडर बांटे और सुप्रीम कोर्ट के दिशा निर्देशों का उल्लंघन किया है।

हालांकि पंकजा ने इन आरोपों को खारिज करते हुए कहा 'सुप्रीम कोर्ट के दिशा-निर्देशों के मुताबिक ही सभी खरीद और टेंडर प्रक्रिया का पालन किया गया है। मुझे नहीं लगता कि कोई भी सुप्रीम कोर्ट से बड़ा है। उन्होंने कहा मुझे इन आरोपों के बारे में पूरी जानकारी नहीं है फिर भी मैं इसकी जांच करूंगी।'

प्रीति शर्मा ने मंगलवार को पंकजा पर आरोप लगाते हुए कहा था कि महिला एवं बाल विकास मंत्रालय में करोड़ों का आंगनवाड़ी घोटाला हुआ है। उन्होंने कहा कि केंद्र और सुप्रीम कोर्ट के फैसलों में कहा गया है कि खाने की पौष्टिक चीजों की सप्लाई ठेकेदारों से नहीं गांवों में चलने वाले सेल्फ हेल्प ग्रुप और महिला मंडलों से ली जाएगी, लेकिन पंकजा मुंडे ने इसके कांट्रैक्ट प्राइवेट कंपनियों को दिए। प्रीति ने ये भी आरोप लगाया कि पंकजा ने ये कॉन्ट्रैक्ट ब्लैक लिस्ट कंपनियों को दिए हैं।

यह भी पढ़ें: महाराष्ट्रः चिक्की मामले में पंकजा मुंडे को क्लीन चिट

Posted By: Manish Negi