राज्य ब्यूरो, जम्मू । सेना की उत्तरी कमान के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने सोमवार को कहा कि 2016 में उड़ी हमले के बाद ही पहली बार भारतीय सेना ने एलओसी पार कर आतंकी ठिकानों पर सर्जिकल स्ट्राइक की थी।

जम्मू संभाग के ऊधमपुर में उत्तरी कमान द्वारा राज्य के विभिन्न हिस्सों से चुने गए मेधावी और जरूरतमंद छात्रों को एक समारोह में छात्रवृति प्रदान करने के बाद लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह पत्रकारों के सवालों का जवाब दे रहे थे। उन्होंने कहा कि भारतीय सेना ने एलओसी और अंतरराष्ट्रीय सीमा पार कर पहली सर्जिकल स्ट्राइक 2016 में उत्तरी कश्मीर में उड़ी स्थित सैन्य ब्रिगेड मुख्यालय पर आतंकी हमले के बाद ही की थी।

कांग्रेस की ओर से 2016 से पहले भी भारतीय सेना की इस तरह की कार्रवाईयों का दावा किए जाने संबंधी सवाल पर उन्होंने कहा कि मैं इस बात पर ध्यान नहीं देना चाहता कि राजनीतिक दल क्या कहते हैं। उन्होंने कहा कि सरकार की ओर से ही इस पर जवाब दिया जाए तो बेहतर है। मैंने आपको जो बताया वही सही है। कुछ दिनों पहले डीजीएमओ ने भी एक आरटीआइ के जवाब में बताया है कि पहली सर्जिकल स्ट्राइक 2016 में ही हुई है।

इसी साल बालाकोट एयर स्ट्राइक पर सिंह ने कहा बालाकोट में आतंकियों के बुनियादी ढांचे पर भारतीय वायुसेना द्वारा किया गया हवाई हमला एक बड़ी उपलब्धि थी। हमारे विमान दुश्मन के इलाके में काफी अंदर तक गए और उन्होंने आतंकियों के लांचिंग पैड और ट्रे¨नग कैंपों पर हमला किया था। पाकिस्तानियों ने अगले दिन हमारे इलाके में हमले का प्रयास किया, लेकिन हमने उन्हें मुंहतोड़ जवाब दिया।

इस साल अब तक वादी में 86 आतंकी मारे जा चुके 

राज्य के मौजूदा हालात का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में हैं। इस साल अब तक कश्मीर में विभिन्न आतंकरोधी अभियानों में 86 आतंकी मारे जा चुके हैं। इसके अलावा 20 के करीब आतंकियों को पकड़ा गया है।

पाक सोशल मीडिया से युवाओं में जिहादी मानसिकता पैदा कर रहा 

लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर  सिंह ने कहा कि पाकिस्तानी एजेंसियों और जिहादी तत्व सोशल मीडिया और अन्य तरीकों से स्थानीय युवकों में जिहादी मानसिकता पैदा कर रहे हैं। ऐसा कर उन्हें गुमराह किया जा रहा है।

इस साल सिर्फ 40 स्थानीय युवक ही आतंकी बने 

रणबीर सिंह ने स्थानीय युवकों की आतंकी संगठनों में भर्ती को ¨चता का विषय करार देते हुए कहा कि यह एक बड़ी समस्या है। बीते साल 217 स्थानीय युवक विभिन्न आतंकी संगठनों में थे। इस साल अब तक पूरी वादी में सिर्फ 40 स्थानीय युवक आतंकी संगठनों में शामिल हुए हैं। 

हताश पाक नहीं करवा पा रहा घुसपैठ 

उत्तरी कमान प्रमुख ने कहा कि इस समय पाकिस्तान पूरी तरह हताश हो चुका है। एलओसी और अंतरराष्ट्रीय सीमा पर हमारा घुसपैठ रोधी तंत्र पूरी तरह मजबूत और प्रभावशाली है। इस कारण पाकिस्तान इस तरफ आतंकियों को धकेलने में सफल नहीं हो पा रहा है। 

सुनिश्चित बना रहे हैं कि चीन सीमा पर घुसपैठ न हो 

चीन के साथ लद्दाख प्रांत में सटी वास्तविक नियंत्रण रेखा पर मौजूदा स्थिति पर उन्होंने कहा कि हम वहां शांति बनाए रखने से लेकर इस बात को सुनिश्चित बना रहे हैं कि हमारे इलाके में घुसपैठ न हो। अगर चीन की सेना की तरफ से घुसपैठ होती है या दोनों तरफ के सैनिकों के बीच तनाव की स्थिति पैदा होती है तो उसे शांतिपूर्ण तरीके से हल करने की एक व्यवस्था भी बनाई गई है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sanjeev Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस