कोयम्‍बतूर (एजेंसी)। भारत का स्‍वदेशी लड़ाकू विमान तेजस दुनिया के कई देशों में अपनी धाक जमा रहा है। कई देश इसको अपनी वायु सेना में शामिल करने के लिए लालायित भी दिखाई दे रहे हैं। भारत का ये हल्‍का लड़ाकू विमान दुनिया के कई देशों के विमानों पर भारी पड़ रहा है। भारतीय वायु सेना के ग्रुप कैप्‍टन स्‍यामंतक राय का कना है कि Light Combat Aircraft (LCA) Tejas दुनिया की किसी भी अत्‍याधुनिक मिसाइल के लिए पूरी तरह से सक्षम है। ये कई तरह की अत्‍याधुनिक सुविधाओं से लैस है। हाल ही में बीईएल और एचएएल के बीच इसको और अत्‍याधुनिक बनाने के लिए नई प्रणालियां विकसित करने हेतु 2400 करोड़ का करार भी हुआ है। 

गजब की खूबियों से लैस है तेजस 

ग्रुप कैप्‍टन राय ने सुलान एयर बेस पर कहा कि इसके जरिय न सिर्फ उत्‍तर और पूर्व में बल्कि देश के दोनों तरफ मौजूद समुद्र में भी निगाह रखने में सक्षम हैं। ये भारतीय वायु सेना के लिए एक परफेक्‍ट फाइटर जेट है। इसमें लगने वाले हथियारों का जिक्र करते हुए उन्‍होंने बताया कि इस फाइटर जेट में गजब की खूबियां हैं। कई तरह के घातक हथियारों से इसको लैस किया जा सकता है। 

कई हथियारों को दागने में है सक्षम 

इसमें शार्ट टर्म थर्मल मिसाइल और लंबी दूरी की विज्‍वल रेंज मिसाइल समेत दुनिया की किसी भी आधुनिक मिसाइल को लगाया जा सकता है। यही वजह है कि ये फाइटर जेट आज दुनिया में अपनी एक अलग पहचान बना रहा है। इस विमान से 1 हजार पाउंड का बम, लेजर गाइडेड मिसाइल या बम, एयर टू एयर मिसाइल, एयर टू सर्फेस मिसाइल को भी दागा जा सकता है। अब इसमें हैमर मिसाइल को लगाने की भी चर्चा चल रही है। इस मिसाइल से 70 किमी की दूरी से दुश्‍मन के बंकर तबाह किए जा सकते हैं। इस वजह से ये एक मल्‍टीरोल फाइटर जेट है।

सुलान एयरबेस पर है तैनात 

भारतीय वायु सेना के पीआरओ विंग कमांडर आशीष मोघे के मुताबिक सुलार एयर बेस पर तेजस विमान की दो स्‍क्‍वार्डन मौजूद हैं। इसके अलावा यहां पर सारंग हेलीकाप्‍टर भी मौजूद है। सारंग हेलीकाप्‍टर भारतीय वायु सेना की एयरोबिक टीम में कई बार वायु सेना दिवस और अन्‍य मौकों पर अपने करतब से दर्शकों को हैरान कर चुका है। दुनिया के कई देशों में भी इस हेलीकाप्‍टर ने अपने जलवे दिखाए हैं। मलेशिया, कोलंबिया और अर्जेंटीना इसमें दिलचस्‍पी दिखा चुके हैं। इसके अलावा ब्रिटेन में हुए एयर शो में भी ये अपना जलवा दिखा चुका है। 

दुश्‍मन को सबक सिखाने के लिए हर वक्‍त तैयार 

विंग कमांडर मोघे ने एएनआई से कहा कि एलसीए तेज किसी भी मौके पर दुश्‍मन को सबक सिखाने के लिए हर वक्‍त पूरी तरह से तैयार है। इसके जरिए दुश्‍मन को करारा जवाब दिया जा सकता है। एलसीए तेजस के पायलट ग्रुप कैप्‍टर एम सुरेंद्रन ने इस मौके पर कहा कि ये फाइटर जेट भारतीय वायु सेना में पूरी तरह से आपरेशनल है। ये विमान भारतीय वायु सेना को मिले किसी भी तरह के टास्‍क को पूरा करने में सक्षम है।

अपनी श्रेणी के दूसरे विमानों पर भारी है तेजस 

आपको बता दें कि इस विमान को हिंदुस्‍तान एयरोनाटिकल्‍स और भारत इले‍क्‍ट्रानिक्‍स ने मिलकर तैयार किया है। ये विमान वजन में हल्‍का होने की वजह से कई तरह की खूबियों से लैस है। हल्‍का होने की वजह से ये अपनी श्रेणी के दूसरे विमानों से कहीं अधिक बेहतर है। अपनी श्रेणी के फाइटर जेट से ये अधिक तरह के हथियार दाग सकता है।  

Edited By: Kamal Verma