नई दिल्ली [जागरण ब्यूरो]। 'विविधता में एकता' को भारतीय संस्कृति की विशेषता करार देते हुए केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि कुंभ सांस्कृतिक राष्ट्रवाद का प्रतीक है। उनका कहना है कि कुंभ के भाव को सिर्फ आस्था से ही समझा जा सकता है। गृह मंत्री ने रविवार देर शाम एक कार्यक्रम में 'स्पिरिट ऑफ कुंभ' पुस्तक का विमोचन करते हुए यह बात कही।

इस मौके पर केंद्रीय सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग मंत्री कलराज मिश्र और पर्यटन सचिव ललित पवार भी मौजूद थे। सिंह ने कहा कि कुंभ की ख्याति पूरी दुनिया में फैली हुई है। चीनी यात्री ह्वेनसांग ने भारत यात्रा पर लिखी पुस्तक में इसका बखूबी वर्णन किया है।

'स्पिरिट ऑफ कुंभ' एक कॉफी टेबल बुक है, जिसे वरिष्ठ आइएएस अधिकारी संतोष के मिश्रा ने लिखा है। मिश्रा ने इस पुस्तक में हरिद्वार और इलाहबाद कुंभ की दुर्लभ तस्वीरें और कई गूढ़ तथ्य दिए हैं। मिश्रा ने शानदार तरीके से तस्वीरों में कुंभ की कहानी बयां की है।

उन्होंने गंगा किनारे और कुंभ के अवसर पर यात्राओं के दौरान ये तस्वीरें खींचीं। कुंभ के अलावा इसमें गंगा किनारे के जीवन को दिखाने के लिए उत्तर प्रदेश और बिहार की कई तस्वीरें दी गई हैं। प्रत्येक फोटो के साथ एक कहानी भी दी गई है। तमिलनाडु कैडर के अधिकारी मिश्रा फिलहाल छत्तीसगढ़ पर्यटन बोर्ड के प्रबंध निदेशक पद पर तैनात हैं।

पढ़ें : राजनाथ ने दिया चर्च की सुरक्षा का भरोसा

पढ़ें : सीमाओं पर घुसपैठ बर्दाश्त नहीं : राजनाथ

Edited By: Sanjay Bhardwaj

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट