जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। करीब दो महीने से लॉकडाउन के कारण थमी जिंदगी अब रफ्तार पकड़ने लगी है। 18 मई से शुरू हुए लॉकडाउन के चौथे चरण में कंटेनमेंट जोन के अलावा लगभग सभी जगहों पर आर्थिक गतिविधियों को मिली इजाजत के बाद अब यातायात के पहिए भी रफ्तार पकड़ने को तैयार हैं। एक ओर जहां रेलवे ने पहली जून से 100 जोड़ी यात्री ट्रेनों की बुकिंग शुरू कर दी है, तो दूसरी ओर सीमित घरेलू उड़ानें शुरू करने का रास्ता भी साफ हो गया है। सरकार ने उड़ानों को लेकर विस्तृत दिशानिर्देश जारी कर दिए हैं।

लॉकडाउन के कारण फंसे लोग किस तरह अपने गांव-घर जाने को बेचैन हैं, इसका अंदाजा टिकट बुकिंग के लिए उमड़ी भीड़ से लगाया जा सकता है। पहली जून से चालू होने वाली नियमित ट्रेनों के लिए गुरुवार सुबह 10 बजे से शुरू हुई ऑनलाइन बुकिंग के चार घंटे में ही 5.51 लाख टिकट बुक हो गए थे। इसमें एक खास बात यह भी देखने को मिली कि लोग जाने के साथ-साथ वापसी की टिकट लेने में भी जुटे हैं। टिकट बुकिंग की मारामारी के मद्देनजर रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा है कि शुक्रवार से देश के लगभग पौने दो लाख सामुदायिक सेवा केंद्रों (सीएससी) से टिकट बुकिंग चालू हो जाएगी।

रेल मंत्री गोयल ने सोशल मीडिया पर भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा को दिए एक इंटरव्यू में कहा कि महानगरों की ओर से छोटे शहरों व जिलों की ओर जाने के लिए ही टिकट बुक नहीं कराए जा रहे हैं, बल्कि टिकटों की 'रिवर्स बुकिंग' भी हो रही है। उत्तर प्रदेश, बिहार और ओडिशा जैसे राज्यों से वापसी के टिकट सबसे ज्यादा कराए जा रहे हैं। रेल मंत्री ने जल्द ही ट्रेनों की संख्या बढ़ाने की बात भी कही है। यात्रियों की सुविधा का ध्यान रखते हुए अगले दो-तीन दिनों में नए प्रोटोकॉल के आधार पर कुछ रेलवे स्टेशनों पर टिकट खिड़की से टिकट बुकिंग की सुविधा भी दी जाएगी। इससे उन लोगों को लाभ मिलेगा, जिनके पास ऑनलाइन बुकिंग की सुविधा नहीं है।

सीएससी के सीईओ डीसी त्यागी ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में पंचायत स्तर पर खोले गए इन केंद्रों के सॉफ्टवेयर में आइआरसीटीसी का लिंक पहले से ही है। भारतीय रेलवे की अनुमति के बाद रिजर्वेशन तत्काल प्रभाव से चालू हो जाएगा।

इस बीच, महाराष्ट्र सरकार की तरफ से राज्य के भीतर आवाजाही पर प्रतिबंध के एलान के बाद रेलवे ने उन यात्रियों का टिकट रद कर दिया है, जिनकी यात्रा महाराष्ट्र के ही दो स्टेशनों के बीच थी। उदाहरण के तौर पर, नासिक के रास्ते मुंबई से दिल्ली आने वाली ट्रेन में मुंबई से नासिक के बीच यात्रा के लिए लिया गया टिकट रद हो गया है। महाराष्ट्र से बाहर जाने वाले यात्रा कर सकेंगे।

हरसंभव कोशिश में जुटा रेलवे

रेलवे ने प्लेटफॉर्मो पर चलने वाली दुकानों व स्टालों को तत्काल प्रभाव से खोल दिया है। हालांकि जिन राज्यों में कोरोना का प्रभाव अधिक है, वहां जाने वाली ट्रेनों की बुकिंग चालू नहीं की गई है। हालत में सुधार के साथ ही वहां के लिए टिकटों की बिक्री खोल दी जाएगी। रेल मंत्री गोयल ने बताया कि प्रवासी श्रमिकों को उनके घर पहुंचाने के लिए अब तक 2050 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का संचालन किया गया है, जिनसे कुल 30 लाख से भी अधिक लोगों को उनके गंतव्य तक पहुंचा दिया गया है। रेलवे अभी यात्रियों के लिए श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के अलावा राजधानी के रूट पर 15 जोड़ी एसी स्पेशल ट्रेनें चला रहा है। अन्य मेल/एक्सप्रेस व उपनगरीय ट्रेनों का संचालन बंद है। मालगाडि़यों का संचालन लॉकडाउन के दौरान भी होता रहा है।

रेल सेवा की अहम बातें

- बुकिंग शुरू होने के छह घंटे में हो गई 5.50 लाख टिकटों की बुकिंग

- जाने के साथ वापसी की टिकटों के लिए भी यात्रियों में मारामारी

- अभी आइआरसीटीसी की वेबसाइट और एप से ही हो रही है बुकिंग

- आज से 1.75 लाख सामुदायिक सेवा केंद्रों से भी होने लगेगी बुकिंग

- एक-दो दिन में कुछ स्टेशनों पर भी टिकट खिड़की खोलने की तैयारी

- बुकिंग के लिए खुली ट्रेनों में दुरंतो और जनशताब्दी जैसी ट्रेनें शामिल

- कुछ और ट्रेनों के संचालन पर भी जल्द फैसला लिए जाने की उम्मीद

यहां भी होगी बुकिंग

मंत्रालय ने बताया है कि शुक्रवार से पोस्ट ऑफिस, यात्री टिकट सुविधा केंद्र लाइसेंसधारी, आइआरसीटीसी के एजेंट और रिजर्वेशन सेंटर के पीआरएस काउंटर से भी टिकट बुक या कैंसल कराए जा सकेंगे।

नए दिशानिर्देशों पर उड़ेंगे विमान

-25 मई से लगभग एक तिहाई घरेलू उड़ान सेवाएं शुरू करने के लिए विस्तृत दिशानिर्देश जारी किए गए हैं। दिशानिर्देशों में नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने बुजुर्गो, गर्भवती महिलाओं और बीमार लोगों को हवाई यात्रा से बचने की सलाह दी है। कंटेनमेंट जोन में रहने वालों को यात्रा की अनुमति नहीं होगी। देश में 25 मार्च से सभी नियमित घरेलू व अंतरराष्ट्रीय उड़ानें रद चल रही हैं। पुन: इनका संचालन शुरू होने से बड़े तबके को राहत मिलेगी।

-यात्रियों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए सरकार ने 24 अगस्त तक के लिए दूरी के हिसाब से उड़ानों के लिए न्यूनतम और अधिकतम किराया भी तय कर दिया है। उड्डयन सचिव पीएस खरोला ने बताया कि हर विमान में 40 फीसद सीटों की बुकिंग सस्ते दाम पर होगी।

-यात्रियों की सुरक्षा को देखते हुए एयरपोर्ट पर सभी एंट्री पॉइंट और विभिन्न टच पॉइंट पर हैंड सैनिटाइजर की व्यवस्था सुनिश्चित की जाएगी। सतर्कता के साथ खाने-पीने के विभिन्न आउटलेट को भी खोलने की अनुमति होगी। एयरपोर्ट के डिसइन्फेक्शन का पूरा ध्यान रखा जाएगा।

-सभी यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग होगी और 14 साल से ज्यादा उम्र के सभी यात्रियों के फोन पर आरोग्य सेतु एप जरूरी होगा। विमान में सवार होते समय भी यात्रियों को क्रमवार तरीके से भेजा जाएगा, ताकि कोई एक-दूसरे से न टकराए।

कई शर्तो के साथ हवाई यात्रा

- करीब एक तिहाई घरेलू उड़ानों का संचालन सोमवार से होगा

- यात्रा समय के हिसाब से उड़ानों को सात बैंड में बांटा गया

- हर बैंड के लिए न्यूनतम व अधिकतम किराया भी तय हुआ

- एयरपोर्ट पर उड़ान के समय से दो घंटे पहले पहुंचना होगा

- वेब चेक-इन होगा, एयरपोर्ट पर चेक-इन काउंटर बंद रहेंगे

- मास्क लगाना सभी यात्रियों के लिए अनिवार्य किया गया है

- सिर्फ एक चेक-इन बैग और एक केबिन बैग की अनुमति 

- यात्रा के दौरान खाने-पीने का कोई सामान नहीं दिया जाएगा

- आरोग्य सेतु एप या फॉर्म भरकर देनी होगी सेहत की जानकारी

नहीं होगी मनमानी वसूली, टाइम बैंड किराया

- 40 मिनट से कम की उड़ान - 2,000 से 6,000 रुपये

- 40 से 60 मिनट की उड़ान - 2,500 से 7,500 रुपये

- 60 से 90 मिनट की उड़ान - 3,000 से 9,000 रुपये

- 90 से 120 मिनट की उड़ान - 3,500 से 10,000 रुपये

-120 से 150 मिनट की उड़ान - 4,500 से 13,000 रुपये

- 150 से 180 मिनट की उड़ान - 5,500 से 15,700 रुपये

- 180 से 210 मिनट की उड़ान - 6,500 से 18,600 रुपये

Posted By: Sanjeev Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस