नई दिल्ली, जागरण डेस्क।  नौकरी करने वालों के लिए पीएफ का पैसा उनकी जीवनभर की जमा पूंजी होता है जो बुढ़ापे में उनकी जरूरतों को पूरा करने के काम आता है। PF आपका रिटायमेंट फंड होता है। इसलिए जरुरी है कि आप अपने पीएफ खाते तो सही तरह से मैनेज करे। EPFO के कई ऐसा नियम हैं जो आपके पीएम अमाउंट के लिए काफी मददगार साबित हो सकते हैं। सबसे पहले बता दें कि पीएफ के पैसे पर फिलहाल, सालाना 8.65 फीसद ब्याज दर मिलता है। पिछले वित्त वर्ष का ब्याज इस साल थोड़ा देरी से आया है। दीवाली से पहले सभी पीएफ अकाउंट होल्डर्स का पैसा उनके खाते में आ जाएगा। कई लोगों का ब्याज तो आना भी शुरू हो गया है। 

अगर आप लंबे समय तक अपने पीएफ अकाउंट में पैसा जमा रखते हैं तो आपके पास अच्छी खासा अमाउंट जमा हो जाता है। लेकिन, क्या आप जानते है कि आप अपने इस पैसे को डबल भी कर सकते हैं। चलिए तो हम आपको बतातें है कि किस तरह से आप ऐसा कर सकता हैं। 

EPF एक्ट 1952 के अनुसार, जिस भी व्यक्ति का पीएफ उकाउंट है उसकी सैलरी का 12 फीसदी हिस्सा पीएफ के तौर पर जमा होता है। ऐसे ही कंपनी भी 12 फिसदी हिस्सा इसमें जमा करती है। इसमें से 8.33 फीसदी हिस्सा कर्मचारी के पीएफ अकाउंट में जाता है और बाकी 3.67 फीसदी पेंशन के तौर पर जमा हो जाता है। 

कैसे बढ़ाए अपने पीएफ का पैसा 

आप अपने पीएफ के पैसे में जो 12 फीसदी का कंट्रीब्यूशन कर रहे हैं उसे बढ़ाने से आपके पीएफ का पैसा दोगुना हो जाएगा। आप 12 फीसदी की जगह इसे बढ़ाकर 25 से 30 फीसदी तक कर सकते हैं। ऐसा करने के लिए आपको वॉलेंट्री पीएफ ऑप्शन का इस्तेमाल करना होगा। इस ऑप्शन के इस्तेमाल से आप अपनी बेसिक सैलरी का 100 फीसदी तक पीएफ कंट्रीब्यूशन बढ़ा सकते हैं। हालांकि, ये जरूरी नहीं है कि कंपनी भी इसमें अपना कंट्रीब्यूशन बढ़ाए। ऐसा करने से आपको रिटायरमेंट के बाद पीएफ का ज्यादा पैसा मिलेगा। 

पीएफ का पैसा ज्यादा बढ़ाने के लिए जरूरी है कि आप इसमें गैप ना आने दें। मतलब जब भी आप अपनी नौकरी बदलें तो इस अपने पीएम का पैसा निकाले नहीं बल्कि, उसे ट्रांसफर करे। क्योंकि, अगर आपने पीएफ का पैसा निकाल लिया तो आपको जिस भी कंपनी में आप जाएंगे वो आपका नया पीएफ अकाउंट खोलेंगे। ऐसे में आपके नए अकाउंट में नए तौर पर कंट्रीब्यूशन शुरू होगा। पैसा ट्रांसफर करने से पुराने अकाउंट में कंट्रीब्यूशन में ही आगे का  कंट्रीब्यूशन जारी रहेगा। इससे फायदा ये होगा की आपका पीएफ फंड बना रहेगा। 

विद्रडॉइल से बचें 

ईपीएफओ के नियमों के मुताबिक, आप बच्चों की शादी, पढ़ाई, मेडिकल जरूरतों और घर खरीदने के लिए अपना पीएफ का पैसा निकाल सकते हैं। लेकिन ऐसा करने से आपका ही नुकसान है कोशिश करें की आप पैसा ना निकालें। आप इन जरूरतों को पूरा करने क लिए कोई और विकल्प तलाश सकते हैं। जैसे की होम लोन, एजुकेशन लोन या पर्सनल लोन लेकर भी अपनी इन जरूरतों को पूरा कर सकते हैं। 

Posted By: Ayushi Tyagi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप