जींद, जागरण संवाददाता। बार-बार ऑनर किलिंग से नाम जोड़े जाने पर खापों ने सख्त एतराज जताते हुए कहा है कि अब इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। खापों ने भ्रूण हत्या के मामले में धारा 302 के तहत केस दर्ज करने और हिंदू मैरिज एक्ट में संशोधन कर समगोत्री विवाह पर रोक लगाने की मांग भी दोहराई। बुधवार को हरियाणा के कंडेला गांव में आयोजित खाप महापंचायत में सर्वसम्मति से कई प्रस्ताव पारित किए गए।

पढ़ें: डैडी प्लीज! धर्मेद्र को मत मारो, मैं इससे शादी करूंगी

कतई मंजूर नहीं अंतरजातीय, सगोत्रीय विवाह: खाप

उत्तर प्रदेश, दिल्ली और हरियाणा की कई खापों और संगठनों के पदाधिकारियों ने सर्वसम्मति से सम गोत्र, सम गांव और गुहांड (पड़ोसी गांव) में शादी और भ्रूण हत्या का विरोध करने तथा दहेज प्रथा के खिलाफ जागरुकता लाने पर सहमति जताई। खाप प्रधान टेकराम कंडेला की अध्यक्षता में हुई महापंचायत में बेटियों को आगे रखने का आह्वान करते हुए सैकड़ों छात्राएं भी मंच के समक्ष बैठाई गई थीं।

उत्तर प्रदेश से भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टकैत, दिल्ली से 360 पालम खाप अध्यक्ष रामकरण सोलंकी, सर्व खाप महापंचायत महिला अध्यक्ष डॉ. संतोष दहिया, सर्व जाट खाप महापंचायत अध्यक्ष नफे सिंह नैन आदि शामिल हुए। रामकरण सोलंकी ने कहा कि भ्रूण हत्या रोकने में जब तक सरकार खापों की मदद नहीं करेगी, यह जघन्य अपराध नहीं रुकेगा।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस