तिरुवनंतपुरम, एएनआइ। केरल में बर्ड फ्लू का खतरा बढ़ता जा रहा है। कलारा वेचर और मानम जैसे स्थान बर्ड फ्लू से पहले भी प्रभावित है। इन सबके बीच बत्तखों को मारा जा रहा है। कोट्टायम जिला कलेक्टर पी.के जयश्री ने इसकी जानकारी दी है। बर्ड फ्लू के मामलों के बाद सभी नमूनों को जांच के लिए भेजा गया है। अचानक से नए मामले सामने आने के बाद प्रशासन में हड़कंप मच गया है। अधिकारियों का कहना है कि संक्रमण रोकने के लिए बत्तखों और मुर्गियों को मारना शुरू किया गया है।

राज्य में तेजी से बढ़ते मामलों को देखते हुए प्रभावित क्षेत्रों में कइ तरह के प्रतिबंध भी लागू किए गए हैं। यहां बत्तख, मुर्गी, बटेर समेत घरेलू पक्षियों के अंडे व मांस की बिक्री पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। पुलिस का कहना है कि नियम का उल्लंघन करने पर कठोर कार्रवाई की जाएगी। 

बता दें कि पिछले साल जनवरी में भी बर्ड र्ल ने दस्तक दी थी। इस दौरान हिमाचल प्रदेश, केरल, राजस्थान, मध्य प्रदेश सहित हरियाणा में इस बर्ड फ्लू के चलते कई पक्षियों की मौत हुई थी। इसके बाद इन राज्यों के कुछ इलाकों में मुर्गियों को बेचने, ख़रीदने और मारने पर प्रतिबंध लगा दिया गया था। इनसे जुड़े उत्पाद और मछलियों को लेकर भी प्रतिबंध लगाया गया था। हालांकि अभी तक पक्षियों से मनुष्य में इस संक्रमण के फैलने की कोई खबर सामने नहीं है. लेकिन इसे लेकर चिंता बनी हुई है। पहले ही देश कोरोना के ओमिक्रान संक्रमण का सामना कर रहा है। ऐसे में बर्ड फ्लू बेहद चिंता का विषय है।

Edited By: Pooja Singh

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट