तिरुवनंतपुरम, एएनआइ। केरल सोना तस्करी मामले में कोच्चि की स्पेशल एनआइए कोर्ट ने आरोपित स्वप्ना सुरेश सहित 12 आरोपितों की न्यायिक हिरासत 8 अक्टूबर तक बढ़ा दी गई है। वहीं दूसरी तरफ मामले में कथित संलिप्तता को लेकर केरल के उच्च शिक्षा मंत्री केटी जेलील के इस्तीफे की मांग को लेकर लगातार विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। मलप्पुरम में आज मंत्री के खिलाफ यूथ कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया। लोगों को तितर-बितर करने के लिए कार्यकर्ताओं के खिलाफ पुलिस ने वाटर कैनन के साथ लाठीचार्ज किया।

बता दें कि इससे पहले भी केटी जलील के इस्तीफे की मांग हुई थी। पिछले दिनों एनआइए दफ्तर के बाहर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन किया था। इस दौरान पुलिस को इस दौरान पुलिस ने कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया था।

कुछ दिन पहले राज्य मंत्री के.टी. जलील (K. T. Jaleel) के इस्तीफे की मांग को लेकर वालनचेरी (Valanchery) में उनके घर के बाहर प्रदर्शन कर रहे अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (Akhil Bharatiya Vidyarthi Parishad- ABVP) के सदस्यों पर पुलिस ने लाठी चार्ज कर दिया था। ये लोग केरल के गोल्ड स्मगलिंग केस (Kerala Gold Smuggling Case में जलील की कथित संलिप्तता को लेकर प्रदर्शन कर रहे थे और मंत्री के इस्तीफे की मांग कर रहे थे। पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे कुछ लोगों को हिरासत में भी लिया था।

ईडी के सूत्रों के मुताबिक, इस मामले में अब तक 1.84 करोड़ की चल एवं अचल संपत्ति जब्त की जा चुकी है। बता दें कि सोने तस्करी मामले को लेकर राज्य की राजनीति में उथल-पुथल मची हुई है। मुख्यमंत्री पिनरई विजयन (Pinarayi Vijayan) के प्रिंसिपल सेक्रेटरी आइएएस अधिकारी एम. शिवशंकर (M. Shivashankar) का मामले में नाम आने के बाद मुख्यमंत्री को उन्हें पद से हटाने के लिए मजबूर होना पड़ा। वहीं, गृह मंत्रालय ने एयरपोर्ट पर मामले की जांच एनआइए को सौंप दी है। 

क्या है पूरा मामला

गौरतलब है कि 5 जुलाई को तिरुवनंतपुरम अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर कस्टम विभाग के अधिकारियों ने गुप्त सूचना के आधार पर संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) से आया एक डिप्लोमेटिक (राजनयिक) सामान पकड़ा था। विदेश मंत्रालय से अनुमति लेने के बाद यूएई वाणिज्य दूतावास के अफसरों की मौजूदगी में जब उसे खोला गया तो उसमें घरेलू इस्तेमाल की कई चीजों में भरा हुआ 30 किलो सोना मिला।