कर्नाटक, एएनआइ। इंटरनेट पर एक पोस्ट के बाद कर्नाटक (Karnataka) के हुबली में रविवार को भड़की हिंसा पर अब पुलिस ने अपनी कार्रवाई तेज कर दी है। पुलिस ने मामले में अब एआइएमआइएम पार्षद के पति समेत 88 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं इलाके में लगाई गई धारा 144 अभी कायम है। बता दें कि पुराने हुबली पुलिस स्टेशन पर कुछ लोगों की भीड़ द्वारा पथराव करने के बाद इलाके में धारा 144 लागू कर दी गई थी। इस घटना में चार पुलिसकर्मी भी घायल हो गए थे।

हनुमान मंदिर और अस्पताल पर भी किया था पथराव

जानकारी के अनुसार भीड़ ने आपत्तिजनक व्हाट्सएप स्टेटस पोस्ट करने वाले एक व्यक्ति के खिलाफ कार्रवाई को लेकर ये हंगामा किया था। वहीं पुलिस का कहना है कि आरोपित व्यक्ति को गिरफ्तार कर केस पहले ही दर्ज कर लिया गया था। लेकिन हंगामा करने आए लोग इससे संतुष्ट नहीं थे और आधी रात के करीब बड़ी संख्या में उन्होंने थाने पर पथराव किया और कई वाहन भी तोड़ दिए। पुलिस आयुक्त के अनुसार भीड़ ने इसके बाद स्थानीय अस्पताल और हनुमान मंदिर में भी पथराव किया। जिसके बाद भीड़ को अचानक हिंसक होते देख पुलिस (karnataka police) को उनपर लाठीचार्ज करना पड़ा था।

सीएम बोम्मई ने बताई थी साजिश

बता दें कि हमले के बाद मीडिया से बातचीत में मुख्यमंत्री बासवराज बोम्मई ने इस हमले को सुनियोजित बताया था। उन्होंने कहा था कि हमला कराने वाले संगठनों को यह नहीं भूलना चाहिए कि इस तरह की घटनाओं को लेकर कड़ी कार्रवाई होगी ही। हमलावरों के साथ ही उन्हें उकसाने वालों के खिलाफ भी पुलिस सख्त कार्रवाई करेगी। उन्होंने लोगों से भी इस मामले में संयम बरतने की अपील की थी।

कोलार में भी हुई थी हिंसा

कर्नाटक के कोलार जिले में भी हुबली से पहले पथराव की घटना घटी थी। गौरतलब है कि वहां के मुलबगल इलाके में रामनवमी पर निकाली गई शोभा यात्रा पर पथराव किया गया था जिसके बाद इलाके में तनाव पैदा हो गया था।

Edited By: Mahen Khanna